टीचर ने किया रिश्ते को कलंकित, पहले रीवा लाया फिर ले गया यहाँ…

जबलपुर मध्यप्रदेश रीवा सतना सिंगरौली

जबलपुर। एक टीचर ने फिर गुरु और शिष्य के पवित्र रिश्ते पर कलंक लगाने का प्रयास किया। शिक्षक ने स्कूल में कक्षा 11 वीं में पढऩे वाली एक छात्रा को जरूरी काम से घुमाने का झांसा दिया और हड़ताल में शामिल होना जरूरी बताकर उसे भोपाल ले आया। शिक्षक ने भोपाल व रीवा में छात्रा से जबरजस्ती का प्रयास किया। हालांकि वह अपने गंदे इरादों में नाकाम रहा, लेकिन नाबालिग छात्रा के साथ उसके द्वारा किया गया कृत्य चर्चाओं में आ गया। सभी ने शिक्षक को जमकर कोसा। उसकी जमकर खबर भी ली गई। पुलिस ने आरोपित शिक्षक को गिरफ्तार कर लिया है।

ये दिया झांसा
आरपीएफ से मिली जानकारी के अनुसार सिंगरौली के एक स्कूल में 11 वीं पढऩे वाली छात्रा 21 जून को स्कूल पहुंची। वहां शिक्षक दिलीप कुमार ने उसे झांसा दिया कि भोपाल में अध्यापक संघ की हड़ताल में उसका जाना जरूरी है। वहां जाने से अनुभव मिलेगा और वह घूम भी आएगी। छात्रा ने परिजनों से पूछने की बात कही तो टीचर ने उसके परिजनों को भी मना लिया और कहा कि वह जरूरी वजह से उसे भोपाल ले जा रहा है। गुरु और शिष्य के रिश्ते पर भरोसा करके परिजनों ने छात्रा को भोपाल जाने की अनुमति भी दे दी।

पहले ले गया रीवा
छात्रा के अनुसार आरोपित शिक्षक दिलीप पहले उसे रीवा लेकर पहुंचा, जहां एक होटल में उससे शारिरिक संबंध बनाने का प्रयास किया, लेकिन नाकाम रहा। इसके बाद वे भोपाल गए, लेकिन वहां भी एक होटल में उसने जबर्दस्ती का प्रयास किया। विरोध और शोर मचाने पर वह कमरे से बाहर निकला। जैसे-तैसे छात्रा ने खुद को बचाया और भोपाल स्टेशन पहुंची। टीचर भी उसके साथ था, वह लगातार उसके साथ अश्लीलता कर रहा था।

जबलपुर स्टेशन पर खुला राज
छात्रा व टीचर शनिवार रात जबलपुर स्टेशन पहुंचे। यहां से उन्हें सिंगरौली के लिए ट्रेन पकडऩी थी, इस दौरान दिलीप ने फिर से छात्रा के साथ ज्यादती का प्रयास किया, लेकिन इस बार छात्रा भड़क गई और हंगामा शुरू कर दिया। हंगामा होता देख आरपीएफ के जवान वहां पहुंचे और दोनों को पोस्ट ले गए। यहां छात्रा फूटकर रो पड़ी और शिक्षक की करतूत से पुलिस कर्मियों को अवगत कराया। आरपीएफ ने तत्काल शिक्षक दिलीप कुमार को हिरासत में ले लिया। पुलिस ने उसकी जमकर धुनाई भी की।

दुराचार का भी आरोप
आरपीएफ के सामने छात्रा ने पहले आरोपित शिक्षक पर दुराचार का आरोप लगाया, लेकिन बाद में उसने कहा कि शिक्षक ने होटलन के कमरे में केवल उसके साथ दुराचार का प्रयास किया है। वह ज्यादती को करता रहा, लेकिन दुष्कर्म में सफल नहीं हो पाया। छात्रा की आप बीती सुनने के बाद आरपीएफ की टीम ने सिंगरौली के सरई थाना पुलिस को इसकी जानकारी दी। रविवार को वहां से पुलिस जबलपुर पहुंची, जहां से दोनों को सिंगरौली ले जाया गया। आरपीएफ पोस्ट प्रभारी वीरेन्द्र सिंह के अनुसार छात्रा ने दुराचार के प्रयास का आरोप लगाया है, जिसकी जांच सिंगरौली पुलिस द्वारा की जा रही है।