रीवा : सरपंच पुत्र की दादागिरी, विरोध करने वालो की ऐसे हो रही सरेआम पिटाई

रीवा

रीवा.. पंचायती कार्यों में हो रही व्यापक अनियमितता के विरोध में आवाज़ उठाने का नतीज़ा आज यह है की आवेदक को सरेराह पकड़कर पीटा जा रहा है और मां-बहन की गालियां दी जा रही है। ऐसे ही एक मामले में डाढ़ निवासी पुष्पराज तिवारी पिता राम अभिलाष तिवारी ने अपने डाढ़ पंचायत में मनरेगा और पंच परमेश्वर सहित शासकीय जमीन के घोटालों को उजागर करने में कोई कसर नही छोड़ी जिसका नतीज़ा यह हुआ की पुलिस और प्रशासन की साठ गांठ से वहां का सरपंच पुत्र सुरेंद्र मिश्रा आये दिन पुष्पराज तिवारी को जान से मारने की धमकी और गाली गलौज करता रहता थाण् अभी हाल ही में ऐसे ही एक सरकारी जमीनी विवाद में जमुई हल्का 31 त्योंथर तहसील ग्राम डाढ़ की शासकीय जमीन लगभग 2 एकड़ को किसी भैयालाल मिश्रा ने अवैध तरीके से अपने नाम करवा लिया था और वह उसके परिजन उसी की बार-बार बेंची किये जा रहे थे।

जिसके विरोध में डाढ़ पंचायत के दर्जनों भूमिहीन हरिजनों जिसमे श्यामकली साकेत, इन्द्रराज साकेत, रघुनाथ साकेत सहित पुष्पराज तिवारी पिता राम अभिलाष तिवारी ने इसका विरोध किया और न्यायालय तहसीलदार त्योंथर में प्रकरण दर्ज किया जिसके बाबत जांच टीम गठित की गई एवं पटवारी और आरआई को मौके पर भेजा गया। इस पर कई बार तो झूँठा पंचनामा और रिपोर्ट तैयार करने का प्रयास किया गया और यह साबित करने का प्रयास किया गया की शासकीय जमीन पर कोई अवैध कजा नही हुआ है जबकि बार बार तहसील कार्यलय में मामला उठाये जाने पर अभी हाल ही जमुई हल्का 31 पटवारी द्वारा पुन: अपना जांच प्रतिवेदन दिया गया जिसमे स्पष्ट रूप से यह उल्लेखित किया गया की शासकीय जमीन पर अतिक्रमण हुआ हैण् यह बात डाढ़ सरपंच पुत्र सुरेंद्र मिश्रा को नागवार गुजरी जिस पर मौके का फायदा उठाकर सोमवार को सुरेंद्र मिश्रा अपने असामाजिक साथियों के साथ पहुचकर पुष्पराज तिवारी उर्फ राजा को पहुंचते ही लात घूसों से मारना शुरू कर दिया और भद्दी भद्दी माँ बहन की गालियां देना चालू कर दियाण् इस प्रकार पीडि़त पुष्पराज तिवारी किसी प्रकार से घटनास्थल से जान बचाकर भागा और थाना गढ़ जाकर सहायक उप निरीक्षक सत्यभान सिंह एवं टीआई विनोद सिंह की उपास्थिति में रिपोर्ट दर्ज करवाने का प्रयास किया लेकिन उसकी रिपोर्ट नहीं दर्ज की गयी।