झगड़ा

रीवा: मारपीट के बाद थाने में हुआ हंगामा, समझौते के बाद सुलझा मामला

रीवा

रीवा। मारपीट की घटना के बाद पीड़ित की शिकायत पर पुलिस एक आरोपी को पकड़कर थाने ले गई। जैसे ही व्यापारियों को जानकारी हुई वे थाने में एकत्र हो गए और पुलिस कार्रवाई का विरोध करने लगे। इसी बीच दूसरा पक्ष भी मौके पर पहुंच गया और राजनीतिक दखलनदांजी के बाद दोनों पक्षों में हुए समझौता से मामला सुलझ गया। यह मामला जिले के बैकुण्ठपुर थाना का है। जहां रविवार सुबह विक्रमादित्य सिंह 18 वर्ष और उनका साथी ज्योतिरादित्य सिंह 15 वर्ष निवासी नेबूहा थाना बैकुण्ठपुर ने अपने परिजनों के साथ थाने में पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई थी कि उनके साथ आरोपी काशी गुप्ता, तीरथ गुप्ता व उनके पुत्रों ने मारपीट की है।

जिस पर पुलिस तीरथ गुप्ता को थाने ले गई थी। तीरथ गुप्ता के थाने ले जाने की खबर लगते ही बैकुण्ठपुर कस्बे के व्यापारी एकजुट होकर थाने पहुंच गए और इस कार्रवाई को लेकर विरोध करने लगे। वहीं शिकायतकर्ता पक्ष के लोगों को भी थाने बुलाया गया और लम्बी बातचीत के बाद दोनों पक्षों ने आपस में मामले को सुलह करने की बात कहते हुए पुलिस के समक्ष दोनों पक्ष राजी हो गए। जिससे एक बड़ा विवाद होने से टाला जा सका।



यह था विवाद

बताया जा रहा है कि काशी गुप्ता की बैकुण्ठपुर में मोटर पार्ट्‌स की दुकान है और उसकी दुकान से विक्रमादित्य सिंह और उसके घर के सदस्यों द्वारा डम्फर के लिए हाइड्रोलिक की खरीदी की गई थी। रविवार को उक्त युवक दुकान पहुंचा तो गुप्ता परिवार के लोग पैसे के लेन-देन को लेकर युवक के साथ न सिर्फ गाली-गलौज करने लगे बल्कि आरोप था कि वे एकजुट होकर मारपीट भी किए हैं। जिसकी शिकायत पीड़ित पक्ष ने थाने में दर्ज कराई थी।

खरे वैश्य समाज के अध्यक्ष हैं तीरथ गुप्ता

बताया गया है कि तीरथ गुप्ता खरे वैश्य समाज का अध्यक्ष है। वैश्य समाज के एक जिम्मेदार पदाधिकारी को थाने ले जाने की जानकारी मिलते ही व्यापारियों में आक्रोश व्याप्त हो गया और वे एकजुट होकर थाने में पहुंच गए। जहां पुलिसिया कार्रवाई का वे विरोध कर रहे थे वहीं बैकुण्ठपुर बाजार बंद कराने सहित विरोध प्रदर्शन की भी बात शुरू हो गई। मामला बिगड़ता देख पुलिस ने वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया। जिस पर एडिशनल एसपी आशुतोष गुप्ता बैकुण्ठपुर पहुंचे और दोनों पक्षों को बुलाकर चर्चा की जिसके बाद मामला आपस में सुलझ गया।

पैसे को लेकर विवाद हुआ था। थाने में इसकी शिकायत भी की गई थी। दोनों पक्षों ने आपस में सुलह कर लिया है। मामला शांत हो गया है।-राम सिंह, थाना प्रभारी, बैकुण्ठपुर।