चेतावनी! बिना मास्क घूमने वालो के लिए ग्वालियर कलेक्टर का ये आदेश पढ़े नहीं तो पड़ सकते हैं मुसीबत में, अभी पढ़िए

तो क्या इनकी लापरवाही की वजह से जबलपुर पहुंच जाएगा स्टेज-3 में, मुश्किल होगा संभालना !

जबलपुर

जबलपुर में दिन प्रतिदिन कोरोना संदिग्धों की संख्या और संदिग्धों की संख्या में बढ़ोत्तरी होती जा रही है। जिला कलेक्टर रोज हेल्थ बुलेटिन जारी कर लोगों को सचेत कर रहे हैं। इसके बावजूद लोग मानने को तैयार नहीं है। पुलिस की सख्ती के बाद भी लोग भीड़ लगा रहे हैं। खासकर सब्जी बाजार, किराना दुकानों में कफ्र्यू का कोई असर नहीं दिखाई दे रहा है। रविवार सुबह अधिकतर सब्जी मंडियों का स्थान बदल दिया गया, ताकि लोग एक निश्चित दूरी पर खड़े होकर सामान खरीदें, लेकिन इन सब नियम कायदों को लोगों ने ताक में रख खुद के जीवन के साथ दूसरों के जीवन को खतरे में डाल दिया। सब्जी मंडियों के हालात बहुत ही बुरे दिखाई दे रहे हैं।

जबकि जिला प्रशासन द्वारा रोज नए संदिग्धों को खोजने, उन्हें आइसोलेट करने तथा क्वारंटाइन करने की सूचना जारी का रही है। जबलपुर शहर में अब तक 8 पॉजीटिव केस सामने आ चुके हैं। वहीं एक पॉजीटिव के सार्वजनिक कार्यक्रम में शामिल होने के बाद मंडला निवास के एक पूरे गांव को आइसोलेशन में रखा गया है। यदि समय रहते नहीं चेते तो जबलपुर में कोरोना बम फट जाएगा और लोग बेवजह इस सजा को भुगतेंगे।

थाईलैंड और दुबई के रास्ते शहर पहुंचे कोरोना वायरस के संक्रमितों की संख्या आठ हो चुकी है। शहर अभी कोरोना स्टेज-2 पर है। संक्रमितों में सात पॉजीटिव सराफा कारोबारी के सम्पर्क में आए व्यक्ति हैं। विशेषज्ञ चिकित्सकों की मानें तो राहत वाली बात ये है कि अभी तक कोई अनजान हिस्ट्री वाला संक्रमित पाया नहीं गया है। लेकिन सेल्फ क्वारंटाइन और सोशल डिस्टेंसिंग की पालना में लगातार सामने आ रही लापरवाही शहर को खतरनाक मोड़ पर ले जा सकती है। स्टेज थ्री में पहुंचने पर कम्युनिटी इन्फेक्शन का खतरा होगा। डॉक्टरों की नसीहत है कि लोग अभी भी सम्भल जाएं। भीड़ में न जाएं और घरों में ही रहें।

लापरवाही पड़ेगी भारी : शहर में कोरोना वायरस के संक्रमितों की संख्या आठ
अब भी सम्भल जाएं, शहर में कोरोना स्टेज-2 पर, तीन में पहुंचा तो मुश्किल होगा संभालना

सेल्फ क्वारंटाइन, होम आइसोलेशन जरूरी
डॉक्टरों का मानना है कि विदेशों से आए लोगों के साथ जिन देश के जिन शहरों में संक्रमण फैला है, वहां से लौटे लोगों को भी एहतियातन 14 दिन होम आइसोलेशन और सेल्फ क्वारंटाइन रहना चाहिए। विदेशो से लौटे लोगों, संक्रमितों और संदिग्धों के सम्पर्क में आने वाले को भी एहतियातन क्वारंटाइन रहना चाहिए। पांच-सात दिन बाद भी संक्रमण के लक्षण मिल सकते हैं।

नरसिंहपुर के बाद मंडला का कनेक्शन
संक्रमित सराफा कारोबारी के सम्पर्क में आए लोगों की हिस्ट्री खंगालने पर नरसिंहपुर जिले के बाद कनेक्शन मंडला जिले तक पहुंच गया है। सूत्रों के अनुसार सराफा कारोबारी का संक्रमित मिला करमेता निवासी एक कर्मचारी कुछ दिन पहले मंडला जिले के निवासी तहसील स्थित ग्राम रेडम भजिया में एक कार्यक्रम में शामिल हुए था। इस कर्मी के शुक्रवार को पॉजीटिव मिलने के बाद रेडम भजिया के करीब 136 लोगों को एहतियातन होम क्वांरंटाइन किया गया है। इससे पहले सराफा कारोबारी के एक और कर्मचारी के संदिग्ध होने के बाद नरसिंहपुर के करकबेल से पकडकऱ जांच कराई जा चुकी है।

Facebook Comments