बड़ी खबर : मध्यप्रदेश की ये दो ट्रेनों को बंद करने की तैयारी, इन पर भी लटकी तलवार

जबलपुर मध्यप्रदेश

जबलपुर. रेल प्रशासन जबलपुर को जोर का झटका धीरे से देने की तैयारी में है, उसने जबलपुर मंडल की दो ट्रेनों को परमानेंट बंद करने का निर्णय लगभग ले लिया है. इन ट्रेनों में जबलपुर-इंदौर-जबलपुर इंटरसिटी एक्सप्रेस व इटारसी-सतना-इटारसी पैसिंजर है. इन ट्रेनों को बंद करने का मुखर विरोध न हो, इसके लिए पश्चिम मध्य रेल प्रशासन अस्थायी तौर पर बंद करने का जुमला अलाप रहा है, लेकिन यह बात पूरी तरह हकीकत है कि पमरे प्रशासन रेलवे बोर्ड को उक्त दोनों ट्रेनों को हमेशा के लिए बंद करने के लिए पत्र लिख चुका है और इसको बंद करने का कारण मालगाडिय़ों के संचालन के लिए पाथ उपलब्ध कराने में मदद करने का तर्क दिया जा रहा है. हालांकि रेलवे बोर्ड पमरे के सीपीटीएम द्वारा उक्त ट्रेनों को परमानेंट बंद करने के संबंध में लिखे पत्र पर कोई निर्णय नहीं लेते हुए, फिलहाल अस्थायी तौर पर बंद करने को कहा है.

बताया जाता है कि पिछले लगभग एक साल से रेल प्रशासन ट्रेक मेंटेनेंस के नाम पर गाड़ी संख्या 51673/51674 इटारसी-सतना-इटारसी पैसिंजर (डेली) व गाड़ी संख्या 11701/11702 जबलपुर-इंदौर-जबलपुर इंटरसिटी (त्रिदिवसीय) ट्रेन को रद्द करता आ रहा है. इन दोनों ट्रेनों को हर माह रद्द करने की सूचना पमरे प्रशासन अपनी विज्ञप्ति के माध्यम से देता रहा है, किंतु इस बार गत 10 जुलाई को पमरे प्रशासन द्वारा जारी विज्ञप्ति में इन गाडिय़ों को अगले आदेश तक रद्द करने की विज्ञप्ति जारी की. यह अगला आदेश लगातार लंबा खिंचता रहेगा.

पश्चिम मध्य रेल प्रशासन हमेशा के लिए बंद करने बोर्ड को लिखा पत्र

बताया जाता है कि पमरे के सीपीटीएम द्वारा गत 2 जुलाई 2018 को रेलवे बोर्ड को पत्र लिखकर उक्त दोनों गाडिय़ों को परमानेंट बंद करने को कहा था, जिसके पक्ष में यह तर्क दिया गया था कि उक्त गाडिय़ों को बंद करने से मालगाडिय़ां के संचालन के लिए पाथ मिलने में मदद मिलेगी.

जवाब में रेलवे बोर्ड ने यह कहा

बताया जाता है कि रेलवे बोर्ड ने गत 9 जुलाई 2018 को पमरे के सीपीटीएम के पत्र के जवाब मेें कहा है कि पमरे के के सीपीटीएम द्वारा लिखे गये पत्र का मेंबर ट्रेफिक ने अध्ययन किया और निर्णय लिया है कि फिलहाल उक्त ट्रेनों को मेंटेनेंस के नाम पर अस्थायी तौर पर बंद रखा जाए.

इनका कहना…

– उक्त ट्रेनों को फिलहाल मेेंटेनेंस के लिए अस्थायी तौर पर बंद किया गया है. उक्त ट्रेनें परमानेंट बंद नहीं की गई हैं.

– प्रियंका दीक्षित, सीपीआरओ, पमरे, जबलपुर.