साली से एकतरफा इश्क की सनक में जीजा ने कर डाला ये घिनौना काम, जानिये क्या है वजह

जबलपुर विंध्य सतना

जबलपुर. रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय क्षेत्र में पिछले दिनों गल्र्स हॉस्टल में रहने वाली छात्रा पर प्राणघातक हमला का सुराग पुलिस ने लगा लिया है. यह घटना छात्रा के जीजा ने ही सुपारी देकर कराई थी. जीजा अपनी साली से इकतरफा प्यार करता था और वह साली पर दबाव बनाता था, छात्रा द्वारा लगातार उसका विरोध किये जाने से गुस्साए जीजा ने प्राणघातक हमला कराया. पुलिस ने इस घटना में शामिल 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि मुख्य आरोपी जीजा वेदप्रकाश फरार है, जिसकी तलाश की जा रही है. इस घटना की खास बात यह है कि जीजा ने 50 हजार रुपए में एक युवक को प्रिया की हत्या की सुपारी दी थी, उस युवक ने घमापुर क्षेत्र के तीन युवकों को 5 हजार रुपए में प्रिया गुप्ता की हत्या करने का सौदा किया.



उल्लेखनीय है कि गत 13 जून की दोपहर करीब 3:25 बजे रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय जबलपुर के गल्र्स हॉस्टल में रहकर एम.एस.सी. बाटनी की पढाई कर रही छात्रा कु.प्रिया गुप्ता निवासी सतना को हास्टल के लिए वापस आते समय हास्टल के पास ही एक सफेद रंग की एक्टिवा से पीछा कर रहे तीन लड़कों में से पीछे बैठे लड़के ने चाकू से हमला करके भाग निकले. खून से लथपथ छात्रा को वहां से गुजर रहे लोगों ने सिटी अस्पताल में भर्ती कराया. छात्रा से पूछताछ कर अज्ञात हमलावारों की पतासाजी हेतु दिशा निर्देश दिए. प्रकरण में धारा 307 भा.द.वि. लगाई जाकर विवेचना की गई.

जीजा करता था साली से इकतरफा प्रेम, विवाद भी होता रहा

रानी दुर्गावती विश्वविघालय परिसर में घटित इस सनसनीखेज वारदात में पुलिस ने बारीकी से अनुसंधान किया और हास्टल में रहने वाली छात्राओं – वार्डन सहित आसपास के अनेकों लोगों से पूछताछ की तो जानकारी लगी कि घायल छात्रा के कटनी निवासी जीजा वेद प्रकाश गुप्ता ने विश्वविद्यालय के बॉटनी डिपार्टमेंट में आकर अपनी साली से विवाद किया था और धमकी भी दी थी. हॉस्टल में रहने वाली कुछ छात्राओं से पता चला कि जीजा वेद प्रकाश आए दिन मोबाइल फोन पर झगड़ा कर धमकी दिया करता था. पुलिस ने घायल छात्रा से प्राप्त जानकारी सामने रखकर पूछताछ की तो पता चला कि नवोदय विद्याालय सतना से 12वीं की पढ़ाई करने के बाद पिता ने आगे की पढ़ाई के लिए कटनी सिविल लाइन में रहने वाली बड़ी बहन रोशनी गुप्ता और जीजा वेद प्रकाश गुप्ता के घर भेज दिया था. वेदप्रकाश साली प्रिया से एकतरफा प्यार करने लगा उसके बाद प्रिया के पिता ने पढ़ाई के लिये जबलपुर भेज दिया. जबलपुर में प्रिया की मित्रता विकाश परवारे नाम के लड़के से होने से जीजा वेद प्रकाश गुप्ता आए दिन विवाद कर मोबाइल पर धमकाने लगा. पुलिस की टीम ने कटनी में जीजा के घर पर छापामारी की तो जीजा वेद प्रकाश घटना वारदात के बाद से फरार होना पाया गया.

जीजा ने ही हमला कराने के लिए दी थी सुपारी

पुलिस के मुताबिक एक्टिवा सवार तीेन लड़कों रोहित सिंह ठाकुर पिता अजय सिंह ठाकुर 20 साल निवासी बी. एम .कलोनी बरऊ मोहल्ला थाना घमापुर, निखिल लालवानी उर्फ कंजा पिता नारु कंजा उम्र करीब 20 साल निवासी लालमाटी गोपाल होटल थाना घमापुर, विवेक कनौजिया पिता प्रेमलाल कनौजिया उम्र करीब 21 साल निवासी सिद्धबाबा रोड हनुमान मंदिर के सामने थाना घमापुर को वारदात में प्रयुक्त सफेद रंग की एक्टिवा एम.पी. 20 एस.सी. 6270 के साथ पकड़ा. जिन्होंने पूछताछ पर बताया कि संजय गौतेल पिता विनोद गौतेल उम्र करीब 29 साल निवासी ललित कालोनी केन्द्रीय जेल के पीछे थाना बेलबाग ने इनको पांच हजार में लड़की प्रिया गुप्ता का मर्डर करने के लिए लगाया था. पुलिस ने तुंरत संजय गौतेल को पकड़ा, जिसने खुलासा किया कि कटनी के रहने वाले वेद प्रकाश गुप्ता ने पचास हजार में साली प्रिया का मर्डर करने की सुपारी दी थी और हास्टल के पास ले जाकर प्रिया की पहचान कराई. हॉस्टल का चौकीदार मोहन, प्रिया के आने-जाने की हर जानकारी वेदप्रकाश को दिया करता था इन्हीं जानकारी के आधार पर संजय ने घटना के दिन एक्टिवा सवार रोहित, विवेक अैार निखिल को चाकू देकर भेजा और पास रुका रहा और जानलेवा हमला होने के बाद 5 हजार रुपए की राशि हमलावरों को दी. पुलिस ने हमलावर रोहित सिंह ठाकुर, निखिल लालवानी, विवेक कनौजिया एवं हास्टल के चौकीदार मोहन चौधरी निवासी भोंगाद्वार धोबीघाट थाना गोरा बाजार और हत्या की सुपारी लेने वाले संजय गौतेल को प्रकरण में धारा 120 बी भा.द.वि. का इजाफा कर गिरफ्तार कर लिया है.