उपचुनाव: Kamalnath ने तय किये 15 सीटों में सिंगल नाम, कहा इस बार भाजपा हो साफ़..

Ex CM कमलनाथ को भाजपा के बागियों का इंतज़ार, दिग्विजय के गढ़ में ढूढ़ रहें हैं आलिशान बंगला

ग्वालियर भिंड मध्यप्रदेश शिवपुरी

ग्वालियर. भाजपा के हांथो सत्ता खो चुके मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Ex CM Kamalnath) अब शह और मात के खेल के लिए तैयार हो चुके हैं. इस बार वे किसी भी तरह का रिस्क नहीं लेना चाहते, लिहाजा वे दिग्विजय के गढ़ माने जाने वाले ग्वालियर-चम्बल में आलिशान बंगले की तलाश में है.

बताया जा रहा है इसी बंगले से Ex CM एवं कांग्रेस (Congress) के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ राजनीतिक समीकरण की शुरुआत करेंगे. फिलहाल वे भाजपा के बागियों और बंगले दोनों की तलाश में जुटे हुए हैं. 

BSF के जवान ने लड़की से SATNA और MAIHAR के होटल में किया था बलात्कार फिर अश्लील वीडियो बनाकर..

Ex CM कमलनाथ को लग रहा था कि मंत्रिमंडल विस्तार के दौरान भाजपा (BJP) के कई विधायक टूटेंगे, पर उनकी ये ख्वाहिश उस समय पूरी नहीं हो पाई. अब वे एक बार फिर बागियों का इंतज़ार करने लगे हैं. परन्तु इस बार वे बागियों का इंतज़ार सिंधिया के गढ़ में करने वाले हैं. जिसके लिए उन्हें आलिशान बंगले की तलाश है. वे आगामी उप चुनाव तक इसी बंगले में रहेंगे. 

बताते चलें मध्यप्रदेश के 24 विधानसभा सीटों में उप चुनाव होने हैं. जिसकी तैयारी भाजपा एवं कांग्रेस दोनों ने शुरू कर दी है. सबसे अधिक 17 सीटें तो ग्वालियर-चम्बल संभागों की हैं. इस वजह से ग्वालियर को ही कमलनाथ ने चुना.

मध्यप्रदेश के कर्मचारियों को सबसे बड़ा तोहफा देने वाली है शिवराज सरकार, पढ़िए

हांलाकि ग्वालियर-चम्बल कांग्रेस के दिग्गज नेता एवं राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह का गढ़ है, फिर भी यहाँ पूरा दम खम कमलनाथ का लगाया जाना यही बताता है की प्रदेश अध्यक्ष उप चुनाव में किसी भी तरह का रिस्क नहीं लेना चाहते. 

वहीँ सूत्र बताते हैं की कमलनाथ ग्वालियर-चम्बल में बैठकर भाजपा के बागियों का इंतज़ार करेंगे. उन्हें यकीन है की कई नेता भाजपा से खफा हैं, और वे जल्द ही पंजा से पंजा मिलाएंगे. इधर, टिकट के लिए भी सूत्रों का मांनना है की वे टिकट भी उन्ही को देने का प्लान कर रहें हैं, जो भाजपा से टूटकर कांग्रेस की तरफ आएँगे. 

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: 

Tagged