भोपाल में Congress पर गरजें ज्योतिरादित्य, बोले- उन्होंने सिंधिया परिवार को ललकारने की गलती की

भोपाल मध्यप्रदेश

Bhopal News in Hindi भोपाल। कांग्रेस छोड़कर भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने के बाद पहली बार पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) भोपाल पहुंचे। यहां रोड शो के बाद भाजपा कार्यालय में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कांग्रेस पर जमकर निशना साधा। इस दौरान उन्होंने इतिहास की बात करते हुए दादी विजयाराजे सिंधिया के जनसंघ में शामिल होने तक की बात कही। उन्होंने कहा कि सिंधिया परिवार को ललकारने की गलती की। सिंधिया प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पीएम मोदी की तारीफ करते नजर आए। उन्होंने कहा कि शिवराज सिंह चौहान कभी न थकने वाले सीएम हैं। उन्होंने आगे कहा कि पीएम मोदी के आशीर्वाद से मेरे लिए भाजपा के द्वार खोले गए।

ज्योतिरादित्य सिंह ने कहा कि मेरे लिए आज भावुक दिन है। जिस संगठन और जिस परिवार में मैंने 20 साल बिताए, मेरी मेहनत लगन, मेरे संकल्प जिनके लिए खर्च किया, उन सबको छोड़कर मैं अपने आपको आपके हवाले करता हूं। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों का मकसद राजनीति होती है, माध्यम जनसेवा होती है, लेकिन यह मैं दावे से कह सकता हूं कि अटल बिहारी वाजपेयी हों, नरेंद्र मोदी हों, राजमाता रही हों या सिंधिया परिवार का वर्तमान मुखिया होने के नाते मैं, हमारा मकसद हमेशा जनसेवा रही है। सिंधिया ने कहा कि पक्ष और विपक्ष में कभी मतभेद नहीं होना चाहिए। शिवराज सिंह हमेशा जनता के समर्पित और जनता के प्रति सब न्योछावर करने वाला कार्यकर्ता शायद बिरला ही रहा हो। कई लोग कहेंगे कि सिंधियाजी आज ये क्यों कह रहे हैं, मैंने खुले में भी यह बात कही है। मैं संकोच करने वाला शख्स नहीं हूं।

दादी के जनसंघ में जाने का परिणाम बताया
सिंधिया ने आगे कहा ‘यह मैं बोल दूं कि 1967 में सिंधिया की मुखिया मेरी दादी को ललकारा था, संविद सरकार में क्या हुआ? 1990 में मेरे पूज्य पिता के ऊपर झूठा हवाला कांड का आरोप लगाया गया, उस समय क्या हुआ? और आज जब मैंने अतिथि विद्वानों और किसानों की बात उठाई और मंदसौर में किसानों के ऊपर केस लगी, जो आवाज मैंने उठाई, और मैंने कहा कि जो वचनपत्र में है, उसे पूरा नहीं किया गया तो उसके लिए सड़क पर उतरना होगा। सिंधिया परिवार सत्य के पथ पर चलता है, मूल्य पर चलता है, सिंधिया परिवार को जब ललकारा जाता है तो सिंधिया परिवार जंग से भी लड़ सकता है।

जहां आपका एक बूंद पसीना गिरेगा, वहां ज्योतिरादित्य 100 बूंद पसीना टपकाएगा
ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आगे कहा कि आज मेरा सौभाग्य है कि जिस दल को अपने पसीने और पूंजी के साथ मेरी दादी ने स्थापित किया। जिस दल में 26 साल की उम्र में पहली बार जनसेवा का पथ अपनाकर मेरे पूज्य पिताजी चले। आज उसी दल में ज्योतिरादित्य सिंधिया आया है। मैं विश्वास दिलाता हूं कि जहां आपका एक बूंद पसीना गिरेगा, वहां ज्योतिरादित्य का 100 बूंद पसीना टपकाएंगे।

कल भरेंगे राज्यसभा का पर्चा
सिंधिया इस प्रवास के दौरान राज्यसभा (Rajya Sabha) के लिए नामांकन भरेंगे। तय कार्यक्रम के अनुसार ज्योतिरादित्य सिंधिया शुक्रवार 13 मार्च को दोपहर 12 बजे बीजेपी ऑफिस पहुंचेंगे। पं. दीनदयाल उपाध्याय (Deendayal Upadhyaya), विजयाराजे सिंधिया (Vijaya Raje Scindia), कुशाभाऊ ठाकरे (Kushabhau Thakre) की प्रतिमाओं और माधवराव सिंधिया (Madhavrao Scindia) के चित्र पर माल्यार्पण करेंगे। महापुरुषों के चित्र पर माल्यार्पण करने के पश्चात राज्यसभा चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने विधानसभा परिसर जाएंगे।

राज्यसभा उम्मीदवारों की लिस्ट जारी
भाजपा ने राज्यसभा लिए 11 सीटों के उम्मीदवारों की लिस्ट जारी कर दी है। कांग्रेस ने मप्र से ज्योतिरादित्य सिंधिया को टिकट दिया है। झारखंड से दीपक प्रकाश, गुजरात से रमीलाबेन बारा और अभय भारद्वाज को मौका दिया है। महाराष्ट्र से उदयन राजे भोंसले और रामदास अठावले को पार्टी ने टिकट दिया है। बिहार से विवेक ठाकुर, असम से बुस्वजीत डाइमरी और भुवनेश्वर कालिता को उम्मीदवार बनाया है। वहीं मणिपुर से लिएसंबा महाराज और राजस्थान से राजेंद्र गहलोत को मैदान में उतारा है।

Facebook Comments