सीधी में मूसलाधार बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त, नदी नाले ऊफान पर, रीवा समेत 12 जिलों में अलर्ट जारी

सीधी में मूसलाधार बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त, नदी नाले ऊफान पर, रीवा समेत 12 जिलों में अलर्ट जारी

भोपाल रीवा सतना सिंगरौली सीधी

सीधी/रीवा/भोपाल। अब मानलून पूर्वी मध्य प्रदेश पर मेहरबान हो गया है। अब तक कम बारिश की मार झेल रहे सीधी जिले में बीते 24 घंटे में 7.07 इंच (179.8 मिलीमीटर) बारिश हुई। मूसलाधार बारिश से जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। नदी-नाले उफान पर हैं। शहर के कई इलाकों में जलभराव के हालत हैं। मौसम विभाग ने रीवा, सीधी, सिंगरौली, शहडोल, अनूपपुर, टीकमगढ़, पन्ना, छतरपुर, सिवनी, होशंगाबाद, रायसेन और उज्जैन में भारी बारिश की चेतावनी दी है। भोपाल, गावालियर और चंबल संभाग के कुछ जिलों में बारिश की संभावना है।

मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार बंगाल की खाड़ी में बने सिस्टम से पूर्वी मध्य प्रदेश के लगभग सभी जिलों में अच्छी बारिश हो रही है। पूर्वी मध्य प्रदेश के लगभग 20 जिलों में बारिश नहीं होने से हालत खराब थे। अब सिस्टम सक्रिय हुआ है। इससे अनुमान है कि बारिश का कोटा पूरा हो जाएगा।

यहां कितनी बारिश

सीधी 179.8, दमोह 87.0, उज्जैन 78.0, रतलाम 45.5, खजुराहो 29.0, उमरिया 22.0, सिवनी, 14.2, ग्वालियर 15.2, मंडला 13.0, (मिली मीटर)

इधर राजघाट बांध का जलस्तर दो फीट बढ़ा

भोपाल, विदिशा में हुई बारिश से बेतवा नदी का बहाव बढ़ गया है। इससे पिछले 24 घंटे में राजघाट बांध का जलस्तर दो फीट बढ़ गया है और अब हर सेकंड राजघाट बांध में 8.44 लाख लीटर पानी पहुंच रहा है।

बेतवा नदी में बहाव बढऩे से राजघाट बांध का जलस्तर पिछले 24 घंटे में 0.6 मीटर बढ़कर शुक्रवार शाम तक 359.50 मीटर पर पहुंच गया है। वहीं बांध की कुल भराव क्षमता 371 मीटर है और अभी बांध 11.5 मीटर खाली है।