मध्यप्रदेश : 25 करोड़ के मालिक हैं अर्जुन सिंह के बेटे, 80 साल की माँ ने लगाये ये आरोप…

भोपाल रीवा

भोपाल. मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम अर्जुन सिंह की पत्नी सरोज कुमारी (80) ने अपने बेटों अजय सिंह और अभिमन्यु सिंह पर घरेलू हिंसा करने और घर से बेदखल करने का आरोप लगाया है। बता दें कि साल 2013 में चुरहट से कांग्रेस विधायक चुने गए अजय सिंह विपक्ष नेता हैं। ये 25.5 करोड़ के मालिक हैं। इनकी भोपाल से लेकर दिल्ली-मुंबई तक करोड़ों की प्रॉपर्टीज हैं।

25 करोड़ के हैं मालिक
– साल 2013 के मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में अर्जुन सिंह के बेटे अजय सिंह उर्फ राहुल भैया सीधी की चुरहट सीट से चुनाव में उतरे थे। उन्होंने बीजेपी के शारदेंदू तिवारी को पराजित करते हुए चुनाव जीता था।
– हालांकि, 2014 के लोकसभा चुनाव में सतना से कांग्रेस टिकट पर उतरे राहुल भैया को पराजय झेलनी पड़ी थी।
– दोनों ही चुनावों में दाखिल किए हलफनामों में इन्होंने 25.5 करोड़ की संपत्ति डिक्लेयर की थी।
– साल 2013 में इन्होंने 9.54 लाख रुपए की पजेरो खरीदी थी। उसी साल इनकी पत्नी सुनिति सिंह ने 4.6 लाख रुपए का ट्रैक्टर खरीदा था। इन दोनों गाड़ियों के अलावा राहुल भैया के पास एक टाटा ट्रक भी है, जिसे इन्होंने साल 2004 में 16.6 लाख रुपए में खरीदा था। साल 2014 में इसकी कीमत 3.5 लाख रुपए दिखाई गई।
– राहुल भैया और उनकी वाइफ 24 लाख रुपए की ज्वैलरी भी रखते हैं।
– इन्होंने शेयर मार्केट में 4.33 करोड़ का इनवेस्टमेंट भी कर रखा है।

गांव में है 5 करोड़ की कोठी
– मध्यप्रदेश के मंडोरा गांव में इनकी कोठी है, जो कि इन्हें पिता अर्जुन सिंह से विरासत में मिली है। 17 हजार स्क्वैयर फीट एरिया में बनी इस कोठी की कीमत 5 करोड़ रुपए है।
– इसके अलावा भोपाल के कोटरा सुल्तानाबाद में इनका 1 करोड़ रुपए का फ्लैट है, जिसे इन्होंने साल 2010 में खरीदा था।
– वाइफ सुनिति का दिल्ली के सैनिक फार्म में बंगला है, जिसकी कीमत 1.8 करोड़ रुपए है।
– इसके अलावा ये मुंबई के विले पार्ले स्थित फ्लैट की मालकिन हैं, जिसकी कीमत 4.12 करोड़ रुपए है।

मां ने लगाए ये आरोप
– सरोज कुमारी (80) मंगलवार को उद्योगपति सैम वर्मा और बेटी वीणा सिंह के साथ कोर्ट पहुंचीं। वो फिलहाल बेटों से अलग नोएडा में रह रही हैं। उन्होंने अपनी अर्जी में कहा, “मेरे बेटों ने घरेलू हिंसा कर मुझे मेरे ही घर से बेदखल कर दिया है। उन्होंने मेरा भरण-पोषण करने से इनकार कर दिया है। इस वजह से मुझे मजबूरी में अदालत की शरण लेनी पड़ी है।”
– “मेरे पति स्वर्गीय अर्जुन सिंह ने जीवनभर कांग्रेस पार्टी में रहकर उसके उन उसूलों पर काम किया जिनसे महिला संरक्षण हो और असहाय व्यक्तियों को सहयोग मिले। लेकिन मेरे बेटे अजय सिंह ने कांग्रेस पार्टी के उन्हीं उसूलों को ताक में रखकर मुझे मेरे घर से बेदखल कर दिया। मुझे इस अवस्था और इस उम्र में अपना घर छोड़कर अलग-अलग जगहों पर रहना पड़ रहा है। यह कृत्य कांग्रेस पार्टी के उसूलों के खिलाफ है। यह प्रदेश की प्रमुख विपक्षी पार्टी का नेता और सर्वसंपन्न होने के बावजूद मेरे बेटों के चरित्र को परिभाषित करता है।”