रीवाः सरकार का रवैया किसानों के पक्ष में नही, अब न्यायालय को आना पड़ रहा आगे, किसान सम्मेलन में रखी बात..

रीवाः सरकार का रवैया किसानों के पक्ष में नही, अब न्यायालय को आना पड़ रहा आगे, किसान सम्मेलन में रखी बात..

मध्यप्रदेश रीवा

रीवाः सरकार का रवैया किसानों के पक्ष में नही, अब न्यायालय को आना पड़ रहा आगे, किसान सम्मेलन में रखी बात..

रीवा। सरकार का रवैया साफ है कि डेढ़ माह से किसान इस ठंड में बैठे है और सरकार अडिग है। यही वजह है कि कोर्ट को अब आगे आना पड़ रहा है। यह बाते पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल ने किसान सम्मेलन को सम्बोधित करते हुये कही ंहै।

एमपीः कोरोना वैक्सीन कल पहुंचेगी भोपाल, 16 से लगाई जायेगी दवा, इन्हे लगेगी सबसे पहले वैक्सीन..

शहर के पद्रमधर पार्क में कांग्रेस पार्टी ने एक किसान सम्मेलन आयोजित किया था। जिसमें मौजूद कांग्रेसी नेताओं के साथ जिले के किसान ने हिस्सा लिया। मुख्य अतिथी की आशंदी से श्री सिंह ने कहां कि अंग्रेजी हुकूमत से भी तेज केन्द्र सरकार का हुक्म चल रहा है। यही वजह है कि आज किसान पेरशान है। यह बिल किसानों के हित में नही है। यह किसान समझ चुका है। जिसके चलते देश का किसान आज परेशान है। सरकार बिल को वापस लेने के लिये तैयार नही हो रही है।

रीवाः सरकार का रवैया किसानों के पक्ष में नही, अब न्यायालय को आना पड़ रहा आगे, किसान सम्मेलन में रखी बात..

इन्होने ने भी रखी बात

किसान सम्मेलन में पूर्व मंत्री कमलेश्वर पटेल, राज्यसभा सदस्य राजमणि पटेल, जिला पंचायत सदस्य अभय मिश्रा, पूर्व विधायक सुखेन्द्र सिंह बन्ना, लोकसभा प्रत्याशी रहे सिद्धार्थ तिवारी, डॉ मुजीब खान, ग्रामीण अध्यक्ष त्रियुगी नारायण शुक्ला, शहर अध्यक्ष गुरूमीत सिह मंगू सहित अन्य लोगो ने अपनी बात रखते हुये भाजपा सरकार को किसान विरोधी सरकार बताया है। सम्मेलन में जिले भर के कांग्रेसी नेताओं एंव कार्यकत्ताओं ने हिस्सा लिया।

सौपा ज्ञापन

सभा के बाद पदमधर पार्क से एक रैली निकाली गई। वेंकट भवन के पास प्रशासन के द्वारा बनाये गये बैरीकेट्रस पहुच कर कांग्रेसियों ने एसडीएम को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन पत्र सौपा है।

श्री महाकाल विकास योजना को मंजूरी, CM Shivraj ने उज्जैन को दी 500 करोड़ की सौगात

मध्यप्रदेश : ठंड ने फिर पकड़ी रफ्तार, ओला-पाला के साथ पड़ेगी गलन भरी ठंड

यहाँ क्लिक कर RewaRiyasat.Com Official Facebook Page Like

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: Facebook | WhatsApp | Instagram | Twitter | Telegram | Google News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *