गौरी की आहट से पुलिस चौकन्नी, एसपी ने पुलिस जवानों को लेकर जंगल की सर्चिंग में उतरे

गौरी की आहट से पुलिस चौकन्नी, एसपी ने पुलिस जवानों को लेकर जंगल की सर्चिंग में उतरे

मध्यप्रदेश सतना

गौरी की आहट से पुलिस चौकन्नी, एसपी ने पुलिस जवानों को लेकर जंगल की सर्चिंग में उतरे

सतना। डकैती गैंग की आहट को लेकर एमपी पुलिस एक बार फिर आमना-सामना करने के मूड में आ गई है। इसी परिप्रेक्ष्य में जंगली क्षेत्र मंे पुलिस का सर्चिंग अभियान शुरू है। डकैत गौरी यादव एवं सम्पत मवासी के मूवमेंट को लेकर पुलिस की निगरानी बढ़ गई है। सतना एसपी धर्मवीर सिंह खुद जंगल में उतरे और ग्रामीणों से जानकारी जुटाने का प्रयास किया।

गौरी की आहट से पुलिस चौकन्नी, एसपी ने पुलिस जवानों को लेकर जंगल की सर्चिंग में उतरे

सतना एसपी के साथ एसडीओपी चित्रकूट अभिनव चैक, रक्षित निरीक्षक सत्यप्रकाश मिश्र, सूबेदार खुशराम एवं थाना प्रभारी मझगवां, बरौंधा, नयागांव, धारकुंडी थाना की पुलिस टीमों के साथ आधा सैकड़ा पुलिस जवान जंगल में प्रवेश कर खोजबीन की।

सतना में फिर मिले मृत कौए, लिये गये सेम्पल, मृत कौओं को खा रहे थे कुत्ते

पुलिस के जवानों ने डकैत गौरी यादव एवं सम्पत मवासी के मूवमेंट वाले क्षेत्र एवं रास्तों की जानकारी लेकर ग्राम बिगदारी, कुटिला पहाड़, कैरोट, जवारीन, बरहा एवं मुड़ियादेव के जंगलों की सर्चिंग की। वहीं पुलिस ने डकैतों के रुकने के अड्डे एवं जंगल में पानी वाले स्थानों को चिन्हित कर तराई में बसे ग्रामीणों एवं खेतों बसे लोगों के साथ ही चरवाहों से चैपाल लगाकर जानकारी ली।

धाक जमाने की जुगाड़ में डकैत गौरी

डकैत ददुआ, ठोकिया, बबुली सहित अन्य डकैतों का सफाया हो जाने के बाद सतना जिले से लगे जंगली क्षेत्र सहित यूपी के धारकुंडी आदि क्षेत्र में अपनी पैठ जाने की फिराक में डकैत गौरी यादव गैंग द्वारा ग्रामीणों को डराने धमकाने का काम कुछ दिनों से किया जा रहा है।

गौरी की आहट से पुलिस चौकन्नी, एसपी ने पुलिस जवानों को लेकर जंगल की सर्चिंग में उतरे

लेकिन जानकारी मिलते ही पुलिस ने भी मोर्चा संभाल लिया है। ऐसी स्थिति में गौरी को इस क्षेत्र में पैठ जमा पाना मुश्किल लग रहा है।

MP : पूर्व कांग्रेस सांसद के बेटा तथा बेटी पर जालसाजी का मामल, पुलिस कर रही जांच, हो सकती है गिरफतारी

बड़े पैमाने पर औद्योगिक कंपनियां संचालित हैं फिर भी सिंगरौली का विकास अधूरा, इस्पात मंत्री ने सभी से मांगा योगदान

High Court का आदेश नहीं मान रहे निजी विद्यालय, 100 प्रतिशत फीस वसूली का दबाव, पालकसंघ ने ली कानूनी सलाह

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: Facebook | WhatsApp | Instagram | Twitter | Telegram | Google News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *