SC/ST ACT : सवर्णों का भारत बंद आज, मध्‍यप्रदेश समेत देश के इन शहरों में दिख रहा सबसे ज्‍यादा असर1 min read

Madhya Pradesh National

नई दिल्लीः मध्य प्रदेश में सवर्ण समाज द्वारा बंद के आह्वान पर व्यापारियों से लेकर छोटे दुकानदारों ने भी इसका समर्थन किया है. प्रदेश के कई हिस्सों में बंद का व्यापक असर देखने को मिल रहा है. मध्य प्रदेश के साथ ही राजस्थान, बिहार और महाराष्ट्र में भी बंद का व्यापक प्रभाव देखने को मिला. बिहार में बंद के चलते पटना में प्रदर्शनकारी ट्रेन की पटरियों पर जा कर बैठ गए हैं, जिससे ट्रेन सेवाएं अवरुद्ध हो गई हैं. वहीं नालंदा में प्रदर्शनकारियों ने आगजनी की घटना को अंजाम देते हुए सभी सड़कों पर जाम लगा रखा है. एक ओर प्रदेश के कई जिलों में स्कूलों, कॉलेजों में छुट्टी घोषित की गई है तो वहीं नेता, मंत्रियों के घरों की सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है. किसी भी तरह की अप्रिय घटनाएं न हों इसके लिए CM हाउस और भाजपा कार्यालय के बाहर भी सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गए हैं. बता दें 2 अप्रैल को आरक्षित वर्ग द्वारा बंद के दौरान ग्वालियर-चंबल अंचल में सबसे ज्यादा हिंसा हुई थी, जिसे देखते हुए मध्य प्रदेश पुलिस पहले से ही चौकन्नी हो गई है और हर परिस्थिति से निपटने के लिये तैयार दिखाई दे रही है.

यहां सबसे अधिक प्रभाव
बंद का सबसे अधिक प्रभाव ग्वालियर, चंबल, भिंड, दतिया, खरगौन, भोपाल, इंदौर, जबलपुर और शिवपुरी में सबसे अधिक दिखाई दे रहा है. हालांकि अभी प्रदेश के सभी हिस्सों में शांति है, लेकिन फिर भी 2 अप्रैल को हुई हिंसात्मक घटनाओं को देखते हुए मध्यप्रदेश पुलिस हाई अलर्ट पर है. ग्वालियर-चंबल संभाग सहित इंदौर, जबलपुर, भोपाल में मॉनिटरिंग की जा रही है. प्रदेश के कई सरकारी सहित निजी स्कूलों में छुट्टी घोषित कर दी गई है. भोपाल में ब्रम्हा समागम समिति ने तो इंदौर में सवर्णों ने एससी एसटी एक्ट के विरोध में 6 सितंबर को बंद का आह्वान किया है. बता दें इंदौर में 50 से ज्यादा संगठनों ने बंद का समर्थन किया है.

इन जिलों में धारा 144 लागू
मध्य प्रदेश के शिवपुरी, खरगौन, चंबल, ग्वालियर, भिंड, दतिया सहित 10 जिलों में धारा 144 लागू की गई है. ग्वालियर में सुरक्षा के खास इंतजाम करते हुए 1500 पुलिसकर्मी तैनात किये गए हैं. जिले में संवेदनशील स्थानों पर 40 कैमरे और 100 फिक्स पिकेट लगाए गए हैं. शहर में 4 ड्रोन और 615 सीसीटीवी कैमरे की मदद से निगरानी की जाएगी. वहीं पेट्रोल पंप भी शाम 4 बजे तक बंद रखे जाएंगे. बता दें प्रदेश में 7 सितंबर तक धारा 144 प्रभावी रहेगी.

मध्य प्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र, बिहार में बंद का असर
– मध्य प्रदेश के ग्वालियर में भारत बंद को पूर्ण समर्थन
– शहर के सभी स्कूल-कॉलेज बंद
– ग्वालियर, भोपाल सहित कई जिलों में धारा 144 लागू
– शाम 4 बजे तक पेट्रोल पंप से लेकर सभी दुकानें बंद
– भिंड, मुरैना, खरगौन, इंदौर, जबलपुर में भी निषेधाज्ञा लागू
– राजस्थान के कई इलाकों में सड़कों पर उतरे प्रदर्शनकारी
– पटना में प्रदर्शनकारियों ने कई जगहों पर आगजनी की
– पटना में ट्रेन की पटरियों पर बैठे प्रदर्शनकारी
– नालंदा में भी सड़कों पर उतरे प्रदर्शनकारी
– महाराष्ट्र के सभी संदिग्ध इलाकों में सीसीटीवी कैमरा और ड्रोन से रखी जा रही नजर

Facebook Comments