दुनिया के लिए माॅडल प्रोजेक्ट बन गया रीवा के बदवार में स्थापित सोलर पाॅवर प्लांट...

दुनिया के लिए माॅडल प्रोजेक्ट बन गया रीवा के बदवार में स्थापित सोलर पाॅवर प्लांट…

मध्यप्रदेश रीवा

दुनिया के लिए माॅडल प्रोजेक्ट बन गया रीवा के बदवार में स्थापित सोलर पाॅवर प्लांट…

रीवा। एशिया का सबसे बड़ा 750 मेगावाट क्षमता का सिंगल साइट प्रोजेक्ट दुनिया के लिए माॅडल प्रोजेक्ट बन गया है। गुढ़-बदवार की बंजर पहाड़ी पर जहां कभी सिर्फ भय का वातावरण था लेकिन यहां सौर ऊर्जा से तैयार होने वाली बिजली प्रदेश ही बल्कि देश को रोशन कर रही है। यही नहीं दिल्ली की मेट्रो भी दौड़ रही है।

गुढ़ तहसील के बदवार की बंजर पहाड़ी पर 750 मेगावाट क्षमता के पाॅवर प्रोजेक्ट के प्रस्ताव पर चर्चा 8 वर्ष पहले हुई थी। उस समय दुनिया में इतनी बड़ी क्षमता का कोई सोलर पाॅवर प्लांट नहीं था। यहां पर प्रोजेक्ट लगाने के लिए देश की 22 कंपनियों ने रुचि दिखाई। जिनमें 8 विदेशी थीं। परियोजना का क्रियान्वयन मप्र शासन के ऊर्जा विकास निगम तथा भारत सरकार की संस्था सोलर एनर्जी कार्पोरेशन आॅफ इंडिया की संयुक्त वेंचन कंपनी रीवा अल्ट्रा मेगा सोलर (रम्स) लिमिटेड द्वारा किया जा रहा है।

दुनिया के लिए माॅडल प्रोजेक्ट बन गया रीवा के बदवार में स्थापित सोलर पाॅवर प्लांट...

माॅडल प्रोजेक्ट के रूप में पेश किया

अल्ट्रामेगा सोलर पाॅवर प्लांट को भारत सरकार ने माॅडल प्रोजेक्ट के रूप में पेश किया है। गत वर्ष इंटरनेशनल सोलर समिट में 121 देशों के प्रतिनिधियों के सामने इस प्लांट की विशेषतांए बताई गई। सरकार के प्रेजेंटेशन के बाद 13 देशों का प्रतिनिधि मंडल भ्रमण करने आया था।

रीवा के इस प्रोजेक्ट को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खुली आॅनलाइन निविदा आमंत्रित की गई थी। जिसमें दूसरों देशों की दो दर्जन बड़ी कंपनियों ने हिस्सेदारी की थी। आखिरी बोली 2ण्97 रुपए प्रति यूनिट तक गई। रीवा के प्रोजेक्ट का उदाहरण देकर कम दर पर बिजली उत्पादन के प्रयास हो रहे हैं।

AMAZON HOT DEALS : खरीदिये सामान सस्ते में

जानकारी मिली है कि प्रतिस्पर्धा के चलते कई प्रोजेक्ट में इससे भी सस्ती दर पर बिजली उत्पादन का अनुबंध हुआ है। देश में जितने भी सोलर एनर्जी से जुड़े पॉवर प्लांट हैंए उनसे बिजली उत्पादन के बाद उसी राज्य में खपत भी हो रही है। रीवा का सोलर पॉवर प्रोजेक्ट पहला है जिसकी बिजली दूसरे राज्य दिल्ली मेट्रो रेल कार्पोरेशन को भेजी जा रही है। रम्स और डीएमआरसी के अनुबंध के तहत दिल्ली मेट्रो को 24 प्रतिशत बिजली दी जानी है।

महिला चपरासी ने की प्रभारी प्राचार्य की पिटाई, सब हो गये हैरान, कहा यह क्या हो रहा..: MP NEWS

यहाँ क्लिक कर RewaRiyasat.Com Official Facebook Page Like

एमपीः 10 बेटियों के कंधे से आखिरी बार विदा हुई मां, अनोखी यात्रा देखकर हैरान थें लोग…

रीवा में नए साल का जश्न होगा फीका, पुलिस ने लिया यह निर्णय…

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: Facebook | WhatsApp | Instagram | Twitter | Telegram | Google News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *