रीवा: दहेज लोभी कर रहे बहन-बेटियों को प्रताड़ित, न कानून का डर और न ही सामाजिक संगठनों की जागरुकता का असर

रीवा: दहेज लोभी कर रहे बहन-बेटियों को प्रताड़ित, न कानून का डर और न ही सामाजिक संगठनों की जागरुकता का असर

मध्यप्रदेश रीवा

रीवा: दहेज लोभी कर रहे बहन-बेटियों को प्रताड़ित, न कानून का डर और न ही सामाजिक संगठनों की जागरुकता का असर

रीवा। दहेज लोभियों की मानसिकता इतनी कुंठित हो चुकी है कि वह पैसों के लिए मान-मर्यादा का भी ध्यान नहीं रखते और बहन-बेटियों को प्रताड़ित कर पुलिस थानों की दहलीज पर भटकने के लिए विवश कर देते हैं। दहेज को लेकर जहां सरकार ने कड़े कानून बनाये हैं तो वहीं सामाजिक संगठनों ने भी काफी प्रयास किया है। दहेज को लेकर आये दिन जागरुकता कार्यक्रम आयोजित होते रहते हैं।

रीवा: दहेज लोभी कर रहे बहन-बेटियों को प्रताड़ित, न कानून का डर और न ही सामाजिक संगठनों की जागरुकता का असर

सरकार भी कानून के माध्यम से आम जनों को सचेत करती आ रही है। इन सबके बावजूद दहेज लोभियों पर कोई असर नहीं दिख रहा है। आये दिन थाना एवं परिवार परामर्श केंद्र से संबंधित विवाद के मामले सामने आते रहते हैं। जहां बहन-बेटियां थानों का चक्कर लगाती रहती हैं। ऐसा ही एक मामला सामने आया है जहां नवविवाहिता को महज इसलिए ससुराल पक्ष द्वारा प्रताड़ित किया जा रहा है कि वह शादी के बाद अपने मायके से 2 तोला सोना और बाइक दहेज में नहीं लेकर आई है।

मिली जानकारी अनुसार गढ़ थाना क्षेत्र के हिनौती गांव निवासी प्रशांत उपाध्याय की शादी 2019 में खुशबू मिश्रा रौरा थाना रायपुर कर्चुलियान के साथ हुई थी। शादी के से ही उसकी पत्नी खुशबू अपने ससुराल में रह रही थी। इसी दरमियान उसके पति सहित ससुराल पक्ष द्वारा मारपीट की जाने लगी एवं दहेज की मांग होने लगी।

युवती द्वारा अपने मायके में इसकी जानकारी दी गई लेकिन उसके मायके पक्ष के लोग दहेज देने में सक्षम नहीं थे। जिसके कारण मना कर दिए तो ससुराल पक्ष के लोग उसके पति के साथ मिलकर मारपीट करते हुए घर से बाहर निकाल दिया। युवती अपने भाई के साथ गढ़ थाना पहुंची लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई जिससे अब युवती अपने भाई के साथ महिला थाना पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई है।

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: Facebook | WhatsApp | Instagram | Twitter | Telegram | Google News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *