मध्यप्रदेश : ओबीसी को साधने मुख्यमंत्री शिवराज ने बनाया बड़ा प्लान, पढ़िये1 min read

Madhya Pradesh

भोपाल. अनुसूचित जाति और जनजाति को साधने की कवायद में जुटी भाजपा ने विधानसभा चुनाव से ठीक पहले ओबीसी कार्ड को भी सुरक्षित रखने की तैयारी कर ली है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 4 सितंबर को सीएम हाउस में ओबीसी वर्ग के तमाम सांसदों, विधायकों, निगम-मंडलों के अध्यक्षों के साथ सामाजिक संगठनों को बुलाया है। इसमें तय किया जाएगा कि सतना में 10 सितंबर को होने वाले बड़े सम्मेलन की तैयारियों में कमी न रहे।

पार्टी स्तर पर भी इसके लिए ओबीसी मोर्चे को लगाया गया है। मुख्यमंत्री खुद इसी वर्ग से हैं, इसलिए पार्टी कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती कि चुनाव के समय यह बड़ा वर्ग उनसे दूर हो। सांसदों व विधायकों को यह जवाबदारी दी जाएगी कि वे सतना में ज्यादा से ज्यादा लोगों को जुटाएं।
कांग्रेस ने राजा-महाराजा के हाथ में दी पार्टी : सिंह

ओबीसी वर्ग की बैठक में भूपेंद्र सिंह ने कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव को हटाकर राहुल गांधी ने एक उद्योगपति कमलनाथ, दो राजा दिग्विजय सिंह-अजय सिंह और एक महाराजा ज्योतिरादित्य सिंधिया के हाथ में पार्टी सौंप दी है। कांग्रेस ने ओबीसी वर्ग के साथ न्याय नहीं किया। जबकि भाजपा में प्रतिनिधित्व मिला। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने ओबीसी आयोग को संवैधानिक दर्जा दिया, जिसका कांग्रेस ने विरोध किया। अब जनगणना में ओबीसी वर्ग पर भी ध्यान होगा।

Facebook Comments