खाद्य सुरक्षा विभाग की कार्रवाई, जबलपुर से रीवा आ रहा 3 क्विंटल मावा, पनीर तथा 15 लीटर धी पकड़ाया

खाद्य सुरक्षा विभाग की कार्रवाई, जबलपुर से रीवा आ रहा 3 क्विंटल मावा, पनीर तथा 15 लीटर धी पकड़ाया

मध्यप्रदेश रीवा

खाद्य सुरक्षा विभाग की कार्रवाई, जबलपुर से रीवा आ रहा 3 क्विंटल मावा, पनीर तथा 15 लीटर धी पकड़ाया

रीवा। जबलपुर से बस के द्वारा लाया जा रहा मावा, पनीर तथा घी को खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम ने छापामार कार्रवाई करते हुए पकड़ लिया हैं। वही जिले के ताराई से आया दूध भी पकडा गया है जिसकी संेंपलिंग करवाई गई है। खोवा किसने मगाया था इसकी जानकारी नही पाई है।

खाद्य सुरक्षा विभाग की कार्रवाई, जबलपुर से रीवा आ रहा 3 क्विंटल मावा, पनीर तथा 15 लीटर धी पकड़ाया

वही कुली की जानकारी के आधार पर पनीर और घी के मगाने वाले का पता चल गया है। खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम ने कुली की निशानदेही पर दिव्या इंटरप्राइजेज के खिलाफ प्रकरण पंजीबद्ध किया है। वही खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम ने जब्त किये गये खाद्य पदोर्थो की संेपलिंग कर जांच के लिए भेज दिया गया है।

बदल गई सूचना, सतर्कता आई काम

खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम ने पुराने बस स्टैण्ड में कार्रवाई की। विभाग के अधिकारियों को सूचना मिली थी कि ग्वालियर से भारी मा़त्रा में मावा, पनीर, घी तथा अन्य खाद्य सामग्री रीवा लाई जा रही है। जिस पर कार्रवाई करने टीम का गठन किया गया। टीम ग्वालियर से आने वाली बस का इंतजार कर रहे थे। लेकिन वह नही आई। वहीं टीम ने सर्तकता अपनाते हुए जबलपुर से आने वाली बसों से उतर रहे सामान की जांच करने में जुट गई।

ऐसे में जबलपुर से आई बस में कर्रवाई करते हुए टीम ने बस उतारते समय 1.5 क्विंटल मावा, 1.5 क्विंटल पनीर तथा 15 किलो घी जब्त किया है। वहीं पटेहरा से आये दूध का संेपल भी लिया गया है। जांच के बाद पता चलेगा कि दूध मिलावटी है या फिर सुद्ध है। इसी के बाद दुधिया की तलाश की जायेंगी। प्रशसन की इस कार्रवाई से पूरे बस स्टैण्ड में हडकंप मच गया।

दावेदार के इंतजार में खाद्य विभाग की टीम

छापामार कार्रवाई में खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम को देखकर खोवा मालिक फरार हो गया। काफी पूछताछ के बाद भी पता नही चला कि आखिर खोवा किसने मगवाया है। वही पनीर के संम्बध में कुली द्वारा जानकारी मिली कि यह पनीर दिव्या इंटरप्राइजेज का है। टीम ने प्रकरण पंजीबद्ध कर लिया है। वही मावा को कोल्ड स्टोर में रखवा कर मालिक का इंतजार किया जायेगा और न आने पर 15 दिवस बाद नष्ट कर दिया जायेगा।

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: Facebook | WhatsApp | Instagram | Twitter | Telegram | Google News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *