मुख्यमंत्री शिवराज आ रहे रीवा इसके पहले ही कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने दे दिया आदेश...

कोरोना से घबराए रीवा कलेक्टर, धारा 144 लागू, रैली जुलूस प्रतिबंधित शादी में शामिल होंगे मात्र…

मध्यप्रदेश रीवा

कोरोना से घबराए रीवा कलेक्टर, धारा 144 लागू, रैली जुलूस प्रतिबंधित शादी में शामिल होंगे मात्र…

रीवा। कोरोना के बढते ग्राफ को देखते हुए एक बार फिर सरकार तथा प्रशासन के हांथ पांव फूल रहे है। विगत दिनों अनलाक में ज्यादातर प्रतिबंधों का हटा कर सामान्य स्थिति बनाने का प्रयास किया गया। लेकिन ठंड में कोरोना की दूसरी लहर शुरू हो गई है। कोरोना रोगीं बढ रहे हैं रोगियो को देखते हुए जिला प्रशासन ने कुछ प्रतिबंध लगाना पुनः शुरू कर दिया है।

कलेक्टर रीवा इल्लैया राजा टी ने जिले में धारा 144 लागू कर दिया है। ऐसे मे जहां रैली, जुलूस, धरना, प्रदर्शन पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया हैं। वही किसी भी सामाजिक, सांस्कृतिक तथा धार्मिक कार्यक्रम के लिए संख्या निर्धारित कर दिया है।

एसडीएम को देनी होगी सूचना

कार्यक्रम करने के पूर्व एसडीएम तथा सम्बंधित क्षेत्र के थाना प्रभारी को सूचना देना आवश्यक कर दिया है। वहीं एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदारी, तथा थाना प्रभारी को कार्यक्रम स्थल निरीक्षण करने के निर्देश दिये गये हैं। निरीक्षण के दौरान किसी भी तरह की कमी पाये जाने पर नियमानुसार कार्यवाही करेगंे।

कोरोना से घबराए रीवा कलेक्टर, धारा 144 लागू, रैली जुलूस प्रतिबंधित शादी में शामिल होंगे मात्र...

सुरक्षा के पूरे इंतजाम आवश्यक

वर्तमान समय में सबसे अधिक सादियां हो रही हैं। ऐसे मे ंभीड बढ़ना लाजमी है। इसी को देखते हुए जिला प्रशासन ने प्रतिबंध जारी कर दिया है। वहीं यह भी आवश्यक कर दिया गया है कि सुरक्षा मामले में शासन द्वारा निर्धारित गाइडलाइन का कडाई से पालन किया जाना चाहिए। कार्यक्रम स्थल में मास्क सेनीटाइजर का पर्याप्त इंतजाम होना चाहिए। वही आपस में लोगों को सामजिक दूरी का पालन करना अनिवार्य रहेगा।

लव जेहाद पर सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने उठाई फांसी की मांग

बारात में शामिल होंगे मात्र 50 लोग

कलेक्टर इल्लैया राजा टी ने धार्मिक, सामाजिक तथा सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजन के लिए विशेष नियम बनाए हैं। जिसमें बताया गया है इस तरह के आयोजन अगर बंद जगह हाल में होते हैं तो उसकी क्षमता से मात्र 50 प्रतिशत लोग ही मौजूद होंगे। वही बंद जगह में 100 से ज्यादा लोग नही रहेगे। इसी तरह खुले स्थान में भी क्षमता के हिसाब से आधे और अधिकतम 200 लोग शामिल हेा सकते हैं। वही ंबारात में मात्र 50 की संख्या में लोगों के शामिल होने की अनुमति रहेगी।

रसोई गैस देकर गरीब महिलाओं के आंसू पोछ लिये लेकिन महंगाई रुला रही, कैसे कराएं सिलेण्डर रिफिल!

शिवराज-महाराज में उलझा मंत्रिमंडल विस्तार का मामला

सड़को के दुर्दशा पर बिफरें शिव सैनिक, शासन-प्रशासन को जगाने किए यज्ञ

यहाँ क्लिक कर RewaRiyasat.Com Official Facebook Page Like

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: Facebook | WhatsApp | Instagram | Twitter | Telegram | Google News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *