सिर्फ मलाई छानी गई, 16 वर्षो में चोरहटा से रतहरा का विकास पूरा नहीं हुआ : REWA NEWS

सिर्फ मलाई छानी गई, 16 वर्षो में चोरहटा से रतहरा का विकास पूरा नहीं हुआ : REWA NEWS

मध्यप्रदेश रीवा

रीवा (REWA NEWS) । भाजपा ने मध्यप्रदेश में अपनी पैठ जमाने के लिए विकास को जुमला बनाया था। जो सुपरहिट रहा। विंध्य प्रदेश का रीवा पंद्रह सालों तक सरकार का हिस्सा रहा है।

सुश्री उमा भारती ने भाजपा की पहली सरकार मध्यप्रदेश में बनाई। तब साल दो साल तक यहां से वरिष्ठ नेता को महत्व दिया गया और सरकार में शामिल किया गया। लेकिन समय बदला और राजनीतिक गुणा-गणित शुरू हुई। इसी दौरान पहली बार विधायक बनने वाले लीडर सूटकेस सहित लंबी छलांग लगाई और कैबिनेट में शामिल हो गये।

किशोरी ने की आत्महत्या, आरक्षक निलंबित, पढ़िए पूरी खबर : SHAHDOL NEWS

साहब का कद निरंतर बढ़ता गया तो दरबारियों ने उन्हें मध्यप्रदेश का भावी मुख्यमंत्री भी प्रचारित करना शुरू कर दिया। विकास का जुमला यहां भी खूब फलता-फूलता रहा। इसी कड़ी में रीवा शहर के मध्य से गुजरने वाली सड़क रतहरा से चोरहटा के विकास का अभियान शुरू हुआ। लेकिन 16 वर्षो से शुरू विकास का अभियान आज भी जारी है और पूरा नहीं हो सका है।

16 वर्ष से निरंतर 10 किलोमीटर की सड़क का निर्माण चल रहा है। इसके बाद भी पूर्ण होने का नाम नहीं ले रहा है। ऐसे कौन से फार्मूले पर यह विकास चल रहा कुछ समझ से बाहर है। कुछ समय के बाद ठेकेदारों में जरूर अदला-बदली होती रही है। इस सड़क निर्माण में अधिकारियों के साथ ठेकेदारों ने जमकर मलाई छानी है। इस सड़क को लेकर कई बार धरना प्रदर्शन भी हुए लेकिन सब अपनी गति से ही चलता रहा है।

चोरहटा से रतहरा तक आफ

रीवा को भाजपा महानगर बनाने का शिगूफा छोड़ती रहती है। लेकिन जमीनी हकीकत क्या है यह जनता भुगत रही है। चोरहटा से रतहरा मार्ग सिर्फ दुधारू गाय बनकर रह गया है। चोरहटा से रतहरा का मार्ग लोगों के सिर्फ आफत बना हुआ है। जानलेवा गड्ढों की वजह से पैदल चलने वाले राहगीरों के लिए खतरा बना रहता है। दू

सरी ओर शहर के न्यू बस स्टैण्ड में निर्माणाधीन फ्लाईओवर भी मुसीबत बना हुआ है। जबकि दूसरी ओर रीवा शहर में कई ऐसे मोहल्ले हैं जहां सड़क, पानी निकासी के लिए नालियां, शुद्ध पेयजल आपूर्ति के लिए पाइप लाइन नहीं पहुंची है।

यहाँ क्लिक कर RewaRiyasat.Com Official Facebook Page Like

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: Facebook | WhatsApp | Instagram | Twitter | Telegram | Google News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *