90 घंटे के प्रयास के बाद बोरवेल में गिरे प्रहलाद को बचाया नहीं जा सका, CM शिवराज ने की यह अपील...

90 घंटे के रेस्क्यू के बाद भी नहीं बच सकी बोरवेल में गिरे प्रहलाद की जिंदगी, CM शिवराज ने की यह अपील…

भोपाल मध्यप्रदेश

भोपाल। बोरवेल में गिरा चार साल का प्रहलाद जिंदगी की जंग हार गया। शनिवार की देर रात 3 बजकर 1 मिनट पर NDRF ने रेस्क्यू ऑपरेशन पूरा कर लिया। पानी के कारण प्रहलाद का शरीर फूल गया था। प्रहलाद को निवाड़ी जिले के स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। जहां जांच के बाद मेडिकल टीम ने मृत घोषित कर दिया। प्रह्लाद की मौत से आहत सीएम शिवराज ने लोगों से अपील की है की वे बोरवेल को खुला न छोड़ें।

निवाड़ी कलेक्टर आशीष भार्गव ने बताया कि बुधवार की शाम से ही बच्चे का मूवमेंट क्लीयर नहीं हो रहा था। बुधवार करीब सुबह 9 बजे निवाड़ी के सैतपुरा गांव निवासी प्रहलाद कुशवाहा नाम का यह बालक खेलते-खेलते अपने खेत के बोरवेल में जा गिरा था। उसके बाद जब यह बात जिला प्रशासन तक पहुंची तो उसे बचाने का प्रयास शुरू किया गया। 90 घंटे के लंबे बचाव ऑपरेशन के बाद प्रहलाद को बचाया नहीं जा सका। प्रहलाद की मौत की खबर ने सभी को दुखी कर दिया है।

मुख्यमंत्री ने जताया दुख, 5 लाख देने की घोषणा

बोरवेल में गिरे मासूम की मौत पर मुख्यमंत्री शिवरात सिंह चैहान ने कहा है कि उन्हें प्रहलाद को न बचा पाने का दुख है। 90 घंटे के रेस्क्यू आपरेशन के बाद भी मासूम को नहीं बचाया जा सका। मुख्यमंत्री ने पीड़ित को 5 लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की है। साथ ही उन्होंने अपील की है लोग बोरवेल को खुला न छोड़ें जिससे दुर्घटनाओं से बचा जा सके।

90 घंटे के प्रयास के बाद बोरवेल में गिरे प्रहलाद को बचाया नहीं जा सका, CM शिवराज ने की यह अपील...

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: Facebook | WhatsApp | Instagram | Twitter | Telegram | Google News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *