रीवा: हेलमेट व मास्क बन गया राजस्व वसूली का फण्डा, पढ़िए पूरी खबर

रीवा: हेलमेट व मास्क बन गया राजस्व वसूली का फण्डा, पढ़िए पूरी खबर

मध्यप्रदेश रीवा

रीवा: हेलमेट व मास्क बन गया राजस्व वसूली का फण्डा, पढ़िए पूरी खबर

रीवा। जबसे आम नागरिकों को हेलमेट लगाने की समझाइस पुलिस द्वारा दी जा रही है और उन्हें दंडित किया जा रहा। यदि सचमुच में पुलिस हेलमेट लगाने को लेकर आम नागरिकों के प्रति ईमानदार होती तो आज की स्थिति में हर वाहन चालक के सिर में हेलमेट होता और वह हेलमेट लगाकर वाहन चलाता।

यह तो सिर्फ दिखावा है। जबकि मूल उद्देश्य हेलमेट की आड़ में राजस्व वसूली है। हेलमेट न लगाने वाले व्यक्ति से पुलिस 200 से लेकर 500 रुपये वसूलती है और इसके बाद छोड़ दिया जाता है।

अब वह व्यक्ति हेलमेट लगाये या न लगाये कोई लेना देना नहीं है। लेकिन यदि पुलिस शुल्क में ही वाहन चालक को हेलमेट प्रदान कर देती तो आज हर वाहन चालक के पास हेलमेट होता और पुलिस को हेलमेट लगवाने के लिए परेशान नहीं होना पड़ता। लेकिन पुलिस समस्या का समाधान नहीं चाहती बल्कि जेब भरना मतलब है।

रीवा: किराने की दुकान में पेट्रोल-डीजल की बिक्री, पढ़िए पूरा मामला

कई वर्षो से हजारों मर्तबा हेलमेट के खिलाफ अभियान चलाया गया लेकिन कितने लोग हेलमेट लगा रहे हैं यह सबको पता है। लेकिन पुलिस समय-समय पर कार्रवाई अभियान चलाकर अपनी जेब भरकर फुर्सत हो जाती है।

फ्लाइंग स्कवाड ने वाहनों से वसूला 57500 का राजस्व

परिवहन आयुक्त के निर्देश पर रीवा आरटीओ के नेतृत्व में फ्लाइंग स्कवाड प्रभारी अलीम खान ने अपने हमराह स्टाफ के साथ बाइपास नेशनल हाइवे पर शनिवार को विशेष वाहन चेकिंग अभियान चलाया। जिसमें चार पहिया और दो पहिया वाहन सहित लगभग 160 वाहनों की चेकिंग की गई।

जिसमें 25 वाहन बिना सीट बेल्ट लगाए पकड़े गये। ऐसे वाहनों पर चालानी कार्यवाही की जाकर 18000 रुपये राजस्व वसूला गया। साथ ही 13 दो पहिया वाहन चालकों को बिना हेलमेट के वाहन चलाते पाया गया जिन पर चालानी कार्यवाही की गई। हेलमेट और अन्य धाराओं में 13000 रुपये का राजस्व वसूला गया। इसी तरह 22 एवं 23 अक्टूबर को चालानी कार्यवाही कर 26500 रुपये का राजस्व वसूला गया है।

महाअष्टमी पर मैहर में मां शारदा के अद्भुत स्वरूप का लाखो भक्तो ने किए दर्शन, इस रूप में सजी मां की सुन्दर प्रतिमा, कोरोना पर आस्था भारी

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: Facebook | WhatsApp | Instagram | Twitter | Telegram | Google News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *