रीवा: 3 दिन से लापता इंजीनयर की लाश, बहुती प्रपात से मिली..

रीवा: 3 दिन से लापता इंजीनयर की लाश, बहुती प्रपात से मिली..

मध्यप्रदेश रीवा

रीवा: 3 दिन से लापता इंजीनयर की लाश, बहुती प्रपात से मिली..

रीवा जिले का बहुती प्रपात इन दिनों मानों लाशें उगल रहा हो। हाल ही में इसी सप्ताह प्रपात के अंदर अर्धनग्न अवस्था में मिली युवती के लाश की घटना का खुलासा भी नहीं पाया कि गत दिवस पूर्व रीवा शहर से अचानक गायब हुए इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर चुके युवक की तीसरे दिन नईगढ़ी थाना क्षेत्र अंतर्गत आने वाले बहुती प्रपात के अंदर कुंड में तैरती हुई लाश मिली।

हासिल जानकारी के अनुसार गुरुवार की शाम करीब 3 बजे पर्यटकों एवं चरवाहों को प्रपात के अंदर पानी में तैरती हुई लाश दिखाई दी। जिसकी सूचना स्थानीय लोगों द्वारा पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस द्वारा घटना की जानकारी उच्च अधिकारियों को दी गई।

सीधी: मध्यप्रदेश पुलिस की मदद से घर का चिराग लौटा, पुलिसकर्मियों की हो रही जमकर तारीफ़..

जिस पर जिले भर के थाना क्षेत्रों को सूचित कर गुमशुदगी की जानकारी ली गई। जिससे पता चला कि ग्राम बड़ी हरदी थाना बैकुंठपुर हाल निवास अनंतपुर रीवा निवासी युवक व्यंकटेश पांडेय पिता उमेश कुमार पांडेय 6 अटूबर की सुबह घर से यह कहकर निकला था कि दोस्त के पास जा रहे हैं, तब से गायब है। बताया जाता है कि युवक इंजीनियरिंग करने के बाद प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा था।

बहुती प्रपात में लाश देखे जाने की जानकारी होते ही परिजन मौके पर पहुंचे ही थे कि इस बीच प्रपात के ऊपर उपस्थित लोगों को पत्थरों के बीच एक बैग दिखाई दिया। बैग को जब खोलकर देखा गया तो रीवा से गुमशुदा युवक व्यंकटेश की फोटो एवं कुछ कागजात मिले। जिसे देखते ही परिजनों ने भी बैग की पहचान कर ली।

जिससे यह निश्चित हो गया कि प्रपात के अंदर देखी गई लाश गुमशुदा युवक की ही है। इस बीच नईगढ़ी थाना प्रभारी मनोज मनोज गौतम पुलिस कर्मियों के साथ शव को गहरे प्रपात के कुंड से निकालने के उद्देश्य प्रपात में उतर गए। लेकिन घना जंगल व ऊबड़-खाबड पथरीला फिसलन भरा मार्ग और रात की वजह से मुश्किलों भरी स्थिति निर्मित हो जाने के कारण शव को फाल से नहीं निकाला जा सका।

संकट के बादल उस समय छा गए जब अंधेरी रात के वक्त घने जंगल व कठिन रास्ते में पुलिस कर्मचारी फस गए। बाद में किसी तरह प्रपात के नीचे उतरे आरक्षक को रात करीब 11 बजे सुरक्षित जंगल से बाहर निकल पाए। फिलहाल समाचार लिखे जाने तक पुलिस टीम बहुती प्रपात के पास मौजूद रही। वहीं प्रपात के अंदर पड़े युवक के शव को निकालने के लिए अब 9 अटूबर की अलसुबह पुलिस टीम बहुती फाल के नीचे फिर उतरेगी।

एमपी उप चुनाव: कमलनाथ के अहंकार के चलते गिरी सरकार: तोमर

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:

FacebookTwitterWhatsApp, Telegram, Google News, Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *