पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने मंत्री बिसाहू लाल को पियाऊ लाल क्यों कहा ! जानिए...

पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने मंत्री बिसाहू लाल को पियाऊ लाल क्यों कहा ! जानिए…

मध्यप्रदेश रीवा सीधी

पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने मंत्री बिसाहू लाल को पियाऊ लाल क्यों कहा ! जानिए…

अनूपपुर। मध्यप्रदेश में उपचुनाव की तारीखों का एलान हो चुका है। राजनीतिक दलों के नेता एक दूसरे पर वार पलटवार ज़ुबानी जंग से नही चूक रहें हैं। पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल ने अनूपपुर में आयोजित जनसभा में कहा कि हजारों लोगों को देखकर लग रहा है कि यहाँ की जनता सिद्ध कर देगी कि हम बिकाऊ को नहीं टिकाऊ को विधायक चुनेंगे। वह गरीब और साधारण परिवार से आने वाले ईमानदार नेता कांग्रेस के विश्वनाथसिंह को जरूर जिताएगी।

पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल ने चुवानी सभा मे कहा कि केवल बिसाहूलाल नहीं बिके, पूरे 25 विधायक बिके। बिसाहूलाल बीजेपी से बिकने के बाद कमलनाथजी से सौदेबाजी करने पँहुचे और कहने लगे हमें मंत्री बना दो। कमलनाथजी जानते थे कि वे बिक चुके हैं, तब उन्होंने साफ-साफ कहा कि आपको अकेले कैसे मंत्री बना दें। आपने पीडब्ल्यूडी मंत्री रहते हुये क्या किया? सड़क ऐसी थी कि रीवा से शहडोल पहुँचने में छह घंटे लगते थे। सिंह ने कहा बिसाहूलाल ऐसा क्या करते थे कि उनका नाम पियाऊलाल पड़ गया।

पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा कि बिसाहूलाल अपने कर्मों से अब आदिवासी नहीं रहे। उन्हें इस बात की चिंता नहीं है कि गरीब आदिवासी के घर पर खाना है या नहीं? वे सोचते हैं कि नोटों के बल पर जीत जाएँगे। लेकिन जनता उन्हें चुनाव में करारा जबाब देकर यह बता देगी कि अनूपपुर की जनता बिकाऊ नहीं है। उन्होंने तालियों से अभिवादन के बीच कहा कि हमारा यहाँ की जनता से परिचय कोई 15 साल पुराना नहीं है बल्कि 36 पुश्तों का परिचय है। शिवराजसिंह केवल झूठे भाषण देने की कलाकारी करते हैं।

शहीद की पत्नी और बच्चे अनुकंपा नियुक्ति के लिए 15 साल से लगा रहे चक्कर मुख्यमंत्री के रीवा आने पर सुनाई अपनी पीड़ा…

अजय सिंह ने कहा कि कमलनाथ जी की गलती क्या थी कि धोखेबाज़ी से अच्छी भली चल रही कांग्रेस सरकार गिरा दी गई। उन्होंने हमेशा जनता की भलाई के लिए सोचा। बिजली के बिलों को कम करना क्या उनकी गलती थी। किसानों का कर्जा माफ हो और उन्हे लाभ मिले, क्या यह उनकी गलत सोच थी? उन्होंने कहा कि आपने स्वयं देखा कि किस तरह मोदी सरकार के रहते यहाँ के रहने वाले लाखों मजदूर गुजरात, मुंबई आदि जगह से सैकड़ों मील पैदल चल चल कर अपने घर पँहुचे।

सिंह ने कहा कि हाथरस की घटना के बाद राहुल गांधी और प्रियंका गांधी पीड़ित परिवार से मिलने पँहुचे, उन्हें सांत्वना दी। लेकिन भाजपा सरकार के बड़े से लेकर छोटे तक एक भी मंत्री का जाना तो दूर, संवेदना के दो शब्द भी उनके मुंह से नहीं निकले। किसी ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। यह अंतर है कांग्रेस और भाजपा की सोच में। भाजपा की सोच केवल सरकार बनाने तक सीमित है।
चुनावी सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि जनता इस बार बिकाऊ को नही टिकाऊ को चुनेगी। अनूपपुर चुनाव प्रचार में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ भी मौजूद थे।

भाजयुमों कार्यकर्ताओं ने कमलनाथ को दिखाए काले झण्डे, गाड़ी रोकने किया प्रयास, किया पथराव

सतना: तीन वर्ष के पुत्र ने शहीद पिता को हाथ जोड़ कर ऐसे किए सलाम की हजारो लोगो के आंखो से छलक पड़े आंसू, राजकीय सम्मान के साथ हुई दिवगंत धीरेन्द्र की अंतिम विदाई

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:

FacebookTwitterWhatsAppTelegramGoogle NewsInstagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *