कैलाश विजय वर्गीय ने साधा कमलनाथ पर निशाना: कहा उन्हें इस उम्र में भी नींद नहीं आ रही है इसलिए वह खुली आंख से देख रहे सपना

कैलाश विजय वर्गीय ने साधा कमलनाथ पर निशाना: कहा उन्हें इस उम्र में भी नींद नहीं आ रही है इसलिए वह खुली आंख से देख रहे सपना

भोपाल मध्यप्रदेश

कैलाश विजय वर्गीय ने साधा कमलनाथ पर निशाना: कहा उन्हें इस उम्र में भी नींद नहीं आ रही है इसलिए वह खुली आंख से देख रहे सपना

भोपाल। प्रदेश में इन दिनों चुनावी राजनीति जोरों पर हैं। 28 विधानसभा सीटों में मतदान होना हैं। भाजपा एवं कांग्रेस के प्रत्याशी आमने सामने है। आए दिन दोनों पार्टियां एक-दूसरे पर हमला बोलते रहते हैं। बीते दिनों भाजपा के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय ने मीडिया कर्मियों से बातचीत के दौरान कांग्रेस एवं पूर्व मुख्यमंत्री पर जमकर निशाना साधा है।

भाजपा के महासचिव कैलाश विजय वर्गीय ने प्रेस कांफ्रेंस में ढेर सारी बातें कही। उन्होंने कहा कि सिंधिया एवं उनके समर्थकों का भाजपा में आने से पहले सबकुछ ठीक नहीं था। उन्होंने कहा कि सिंधिया एवं उनके कार्यकर्ताओं के भाजपा में आने से असंतोष की स्थिति थी।

भाजपा महासचिव ने कहा कि जिसके खिलाफ हम लगातार बोल रहे है, एकाएक वह अपनी पार्टी में आ जाए और उसके पक्ष में बोलना पड़े, उसके लिए समय लगता है, माइंड सेट करना पड़ता है।

रीवा की नईगढ़ी में नरसिंहपुर जैसी घटना, युवती का बलात्कार कर वॉटरफॉल में फेका…

उन्होंने माना की सिंधिया के पार्टी में आने को लेकर भाजपा कार्यकर्ताओं में असंतोष था। लेकिन अब यह पूरी तरह से समाप्त हो चुका हैं। अब हम सब मिलकर कदम से कदम आगे बढ़ा रहे है, और 28 विधानसभा सीटों में जीत हासिल करेंगे।

कमलनाथ पर साधा निशाना

कैलाश विजय वर्गीय ने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कमलनाथ पर भी अपने बयानों से निशाना साधा। उन्होंने कहा कि इस उम्र में भी कमलनाथ को नींद नहीं आती है, इसलिए वह खुली आंख से सपना देख रहे हैं। कैलाश विजयवर्गीय ने यह बयान मीडिया कर्मियों द्वारा जीत को लेकर किए गए सवाल पर दिया। इस दौरान भाजपा के कई वरिष्ठ नेता एवं पदाधिकारी मौजूद रहे।

एमपी : भोले-भाले लोगो को अब बेबकूफ नही बना पाएगी चिटफंड कम्पनियां, जानिए कैसे

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:

Facebook WhatsApp Instagram Twitter Telegram | Google News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *