मध्यप्रदेश : पति ने गुस्से में तोड़ा फोन तो पत्नी ने मांग लिया तलाक, जज की इस ट्रिक ने कर दिया कमाल

मध्यप्रदेश

भोपाल का एक दंपत्ति अजीबो-गरीब वजह से तलाक लेना चाहता था। पति और पत्नी दोनों घंटों अपने-अपने मोबाइल फोन पर चिपके रहते थे। इसी बीच एक दिन ऐसी घटना घटी, जिसके बाद दोनों सीधे तलाक लेने चल दिए। शहर के सर्वधर्म कॉलोनी के रहने वाले इस शादीशुदा जोड़े की तलाक का मामला एसडीएम राजकुमार खत्री के पास पहुंचा। जज ने फिर ऐसी तरकीब निकाली कि दोनों ने एक दूसरे से अलग होने का फैसला ही कैंसिल कर दिया।

क्या है मामला?
दरअसल, एक दिन जब पति ने पत्नी को मोबाइल पर किसी से बात करते देखा तो वह इतना आग बबूला हो गया कि उसने उसके हाथ से फोन छीना और तोड़ दिया। यही नहीं पति ने पत्नी पर हाथ भी उठाया। पत्नी फौरन थाने गई और शिकायत की। पुलिस ने धारा 151 के केस दर्ज किया। मामला एसडीएम राजकुमार खत्री की कोर्ट में पहुंचा

क्या है पति, पत्नी की शिकायत?
पति ने जज को बताया कि उसकी पत्नी घंटों एक रिश्तेदार के साथ फोन पर बात करती रहती है और रोक-टोक करने पर झगड़ा करती है। वहीं पत्नी ने आरोप लगाया कि उसका पति भी किसी से घंटों फोन पर बात करता है और मना करने पर मारता-पीटता है। यही वजह है कि दोनों एक दूसरे से तलाक लेना चाहते थे।

एसडीएम ने दोनों को कहा कि उन्हें तलाक इसी शर्त पर मिलेगी जब दोनों लगातार तीन दिन तक कोर्ट साथ आएंगे और साथ जाएंगे। जज के कहे अनुसार दोनों साथ कोर्ट आते थे और जज के कमरे के बाहर सुबह 11 बजे से शाम 5 बजे तक बैठते थे। इस पूरे वक्त दोनों के पास मोबाइल फोन नहीं होता था।

जाहिर है कि जब छह घंटे दो लोग एक साथ बैठें और उनके पास करने को कुछ ना हो, तो वे दोनों एक दूसरे से बात करेंगे ही। बात करते-करते दोनों का मनमुटाव दूर होता गया और तीन दिन के अंदर दोनों की सुलह हो गई और उन्होंने एक दूजे से अलग होने का ख्याल अपने मन से निकाल दिया।