टूट का डर, कांग्रेस दे रही प्रलोभन, 40 विधायकों को भाजपा ने भेजा पचमढ़ी..

MP: आख़िर क्या वज़ह है अभी तक 4 सीटों के लिए उम्मीदवार घोषित नही कर पाई कांग्रेस

मध्यप्रदेश

MP: आख़िर क्या वज़ह है अभी तक 4 सीटों के लिए उम्मीदवार घोषित नही कर पाई कांग्रेस

भोपाल (विपिन तिवारी ):  मध्यप्रदेश की राजनीति इन दिनों गरम है। कमलनाथ सरकार गिरा कर भाजपा में कई कांग्रेसी शामिल हुए हैं।उन्हीं सीटों 28 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होना है. जिसके लिए कांग्रेस-भाजपा सहित अन्य पार्टियों ने अपनी कमर कस ली है. इसी सिलसिले में कांग्रेस ने विधानसभा की 28 में से 24 सीटों पर अपने उम्मीदवारों के नाम घोषित कर दिए हैं. लेकिन विधानसभा की चार सीटों पर अभी भी अपने उम्मीदवारों का नाम जनता को नहीं बताया है. ये चार सीटें मुरैना, मेंहगांव, बड़ा मलहरा और ब्यावरा की है.

MP: दूसरी महिला के साथ पत्नी ने पकड़ा तो डीजीपी रैंक के अधिकारी ने पत्नी को पीटा, बेटे ने वीडियो मुख्यमंत्री शिवराज को भेजा…

तीन जिलों की चार सीटों पर उतारना है उम्मीदवार

मुरैना और मेहगांव, मुरैना जिले की विधानसभा सीट है, जो ग्वालियर-चंबल संभाग में आती है. बड़ा मलहरा की सीट छतरपुर जिले की है तो वहीं ब्यावरा विधानसभा सीट राजगढ़ जिले में शामिल है, जो भोपाल संभाग का हिस्सा है. इसी साल कांग्रेस के 25 विधायक भाजपा में आ गए थे, जिससे तत्कालीन कांग्रेस सरकार गिर गई थी. और अब इन सीटों पर उपचुनाव की जरूरत पड़ी.

तीन कांग्रेसी भाजपा में गए तो, भाजपा की इस उम्मीदवार को कांग्रेस ने दिया टिकट

कांग्रेस छोड़ने वाले 25 विधायकों में से ही तीन विधायक जिनमें मुरैना से रघुराज सिंह, मेहगांव से ओपीएस भदौरिया और बड़ा मलहरा से प्रद्युम्न सिंह लोधी ने कांग्रेस छोड़ भाजपा की सदस्यता ली थी. तो वहीं ब्यावरा सीट के विधायक गोवर्धन दांगी की बीते दिनों कोरोना से मृत्यु हो चुकी है, जो कांग्रेस के ही विधायक थे. इन चार में तीन सीटों पर कांग्रेस के विधायक बीजेपी में शामिल हुए, तो वहीं सुरखी विधानसभा सीट पर कांग्रेस ने पारुल साहू को टिकट दिया है, जो पिछले हफ्ते ही बीजेपी से कांग्रेस में शामिल हुई थी.

बता दे मध्यप्रदेश की राजनीति में इन दिनों एक पार्टी से दूसरी पार्टी में नेताओं का आना जाना जोरो दल बदलना जोरों से चल रहा है

सतना में मचा हड़कंप: थानेदार की पिस्टल से चली गोली, चोरी के संदेही की मौत

सिंगरौली: ग्रामीणों को ठगने के लिए आए चिटफंड कंपनी के एजेंटों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

[signoff]