मध्यप्रदेश : साली पर फिदा हुआ जीजा, बन गए गलत रिश्ते और फिर ऐसा ‘अंजाम’

मध्यप्रदेश

जबलपुर में प्रापर्टी ब्रोकर उमाशंकर शर्मा की हत्या के मामले में पुलिस ने ‘साली’ ज्योति से पूछताछ शुरु कर दी है। यह बात सामने आई कि उमाशंकर की हत्या में ‘साली’ ज्योति के व्यॉयफे्रंड का हाथ है जिसने ज्योति के साथ मिलकर उमाशंकर की हत्या की साजिश रची। साजिश के चलते व्यॉयफे्रंड ने अपने शूटर दोस्त को पिस्टल देकर लखनऊ से जबलपुर भेजा, जिसने उमाशंकर की गोली मारकर हत्या कर दी। खबर है कि पुलिस ने मामले में ‘साली’ को हिरासत में ले लिया है। वहीं दोनों आरोपियों की तलाश में संभावित ठिकानों में दबिश दे रही है।

विजय नगर में जॉय स्कूल के पीछे रहने वाले उमाशंकर शर्मा एक कीटनाशक कंपनी में एरिया मैनेजर होने के साथ साथ प्रापर्टी ब्रोकर का काम भी करता रहा। उमाशंकर के घर में उनकी पत्नी सुमन उम्र 38 वर्ष, बेटा सौरभ 14 वर्ष, कान्हा 3 वर्ष, बेटी सौम्या 7 वर्ष व ‘साली’ ज्योति भी आकर रहने लगी। इस बीच उमाशंकर के ज्योति से संबंध हो गए। उमाशंकर के ज्योति से संबंध होने की जानकारी जब ज्योति के लखनऊ में रहने वाले व्यॉयफे्रंड अंकित को लगी तो वह आगबबूला हो गया। उसने ज्योति से इस बारे में चर्चा की और उमाशंकर की हत्या करने साजिश रच डाली।

साजिश के चलते व्यॉयफे्रंड ने लखनऊ से अपने दोस्त गोलू को यादव को भेजा जो शूटर भी है। घटना के दिन 13 अगस्त शूटर गोलू टे्रन से जबलपुर आ गया। जिसने ज्योति से संपर्क किया, ज्योति ने शूटर को दिन में घर दिखाया और रात को बुला लिया। देर रात शूटर ने उमाशंकर के मुंह पर तकिया रखकर सिर पर दो गोली मारी, जिससे उमाशंकर की मौत हो गई। हत्या करने के बाद शूटर रेलवे स्टेशन पहुंचा और ट्रेन से भाग निकला।

हत्या की घटना की खबर मिलते ही पुलिस अधिकारी पहुंच गए, जिन्होने ज्योति से विभिन्न बिन्दुओं पर पूछताछ की। जिसपर कुछ जबाव ज्योति ने ऐसे दिए कि पुलिस को शक हो गया और पुलिस ने ज्योति से सख्ती से पूछताछ की तो उसने व्यॉयफे्रंड के साथ मिलकर साजिश रचना स्वीकार लिया। हालांकि पुलिस अधिकारी इस संबंध में कुछ भी कहने के लिए तैयार नहीं है।