सिंगरौली में हड्डाकीट का कहर, दंश से 2 मासूम की मौत, 2 बच्चियों की हालत गंभीर

सिंगरौली में हड्डाकीट का कहर, दंश से 2 मासूम की मौत, 2 बच्चियों की हालत गंभीर

मध्यप्रदेश सिंगरौली

सिंगरौली में हड्डाकीट का कहर, दंश से 2 मासूम की मौत, 2 बच्चियों की हालत गंभीर

सिंगरौली (विपिन तिवारी ) । ग्राम बोदाखुटा में हड्डा कीटों के काटने से दो मासूम बालकों की मौत हो गयी, जबकि दो मासूम बालिकाएं जिला चिकित्सालय में जीवन और मौत के बीच संघर्ष कर रही हैं। यह घटना बुधवार की सुबह करीब 10 बजे की है। मुखबिरों ने बताया कि मासूम बच्चे मवेशी व बकरियों को लेकर जंगल चराने गये हुए थे।

सतना में एक साथ मिले कोरोना के 22 पॉजिटिव केस, पढ़िए

ग्राम बोदाखुटा के चार मासूम बालक रोजाना की तरह बुधवार की सुबह बकरियों को लेकर जंगल में चराने गये हुए थे। जहां सबसे पहले हड्डा कीटों ने वृद्ध व्यक्ति पर हमला किये। वह किसी तरह अपनी जान बचाकर भाग खड़ा हुआ। लेकिन हड्डा कीटों के चपेट में चार मासूम आ गये। जहां दो मासूम बच्चियां झाडिय़ों में छुपकर किसी तरह बची रहीं, लेकिन इन्हें भी हड्डा कीटों ने खूब डंक मारा। तो वहीं दो मासूम विकल्प पिता बाबूलाल सिंह उम्र 6 वर्ष, रमेश पिता श्याम बहादुर सिंह उम्र 5 वर्ष इधर-उधर चीख-पुकार कर अपनी जान बचाने के लिए भागते रहे।

अंतत: इन दोनों मासूम बालकों के शरीर पर हड्डा कीट इस तरह से चिपके हुए थे कि देखने वाले भी डर गये। यह घटना करीब सुबह 10 बजे की है। मासूम बच्चों के परिजनों को इसकी जानकारी दोपहर 12 बजे लगी बच्चों के बाप चितरंगी में मजदूरी करने आये थे.

रीवा: मुख्यमंत्री शिवराज करेंगे 30 सितम्बर को सुपर स्पेशलिटी अस्पताल का लोकार्पण

खबर मिलते ही आनन-फानन में बोदाखुटा जंगल में पहुंच तलाश करने लगे। दो बच्चियां आरती पिता हरीराम बादी उम्र 6 वर्ष एवं प्रियंका पिता बाबूलाल उम्र 7 वर्ष झाड़ी में छुपी मिलीं, लेकिन उनकी हालत देखकर तत्काल अस्पताल रवाना कर दिया गया जहां चिकित्सकों ने दोनों मासूम बच्चियों को जिला चिकित्सालय रेफर कर दिया तो वहीं मासूम बालक विकल्प व रमेश को जंगल के झाडिय़ों में गांव भर के लोग तलाश करने लगे।

बड़ी मुश्किल से दोनों मासूम घायल हालत में मिले। लेकिन इनके शरीर, आंख, नाक,कान, ओठ सहित अन्य भागों में हड्डा कीट छत्ता की तरह लिपटे हुए थे। ग्रामीणों के कड़े मशक्कत के बाद सैकड़ों की संख्या में चिपके हड्डा कीटों को भगाने में सफल हुए।बताया गया कि दोनों मासूम बालकों को उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया गया। जहां उपचार के दौरान दोनों मासूमों ने दम तोड़ दिया। घटना की सूचना पर चितरंगी पुलिस मौके से पहुंच शव का पोस्टमार्टम करा अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को सौंप दिया।

मध्यप्रदेश में 30 हजार शासकीय विभागों पर होगी भर्ती, पढ़िए जरूरी खबर

[signoff]