सिंगरौली: रेत खदान में ठेकेदारों को नही मिल रही राहत, पढ़िए जरूरी खबर

सिंगरौली: प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में धांधली, ग्रामीणों को नही मिल पाई सड़क

मध्यप्रदेश सिंगरौली

सिंगरौली: प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में धधली, ग्रामीणों को नही मिल पाई सड़क

सिंगरौली (विपिन तिवारी ) । देश की अति महत्वकांक्षी प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना जो गांव को शहर से जोड़कर नए भारत के निर्माण एवं गांवों की तस्वीर बदलने का कार्य कर रही है ऐसे महत्वपूर्ण योजना में विभागीय अनदेखी के चलते ठेकेदार की मनमानी चल रही है । जी हां बात की जा रही है लगभग साढे चार करोड़ रुपए की लागत से 12 किलोमीटर दूरी की स्वीकृत देवसर विकासखंड अंतर्गत अतरवा से खंधौली निर्माणाधीन प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क मार्ग की ,जहां उक्त मार्ग निर्माण कार्य के ठेकेदार तमाम नियमों को ताक पर रखकर मापदंडों को दरकिनार करते हुए सड़क के निर्माण कार्य में मनमानी पूर्वक कार्य किया जा रहा है किंतु विभागीय अधिकारी कर्मचारी हस्तक्षेप करने की जहमत नहीं उठाना चाह रहे क्योंकि विभाग के चहेते ठेकेदार का जो कार्य है ।

सतना जिला अस्पताल के 5 डॉक्टर कोरोना पाजिटिव, पढ़िए पूरी खबर

डब्ल्यू एम एम के ऊपर एक कोड इमल्शन

करोड़ों रुपए की लागत से बन रही अतरवा से खंधौली प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क के कार्य में मापदंडों की खूब अनदेखी हो रही है क्योंकि डब्ल्यू एम एम के ऊपर डामरीकरण के लिए डाले जाने वाले इमल्शन में कोताही की जा रही है । जानकारों के मुताबिक दो परत इमल्शन डाला जाना चाहिए किंतु मार्ग में खंधौली छोर की ओर लगभग 2 किलोमीटर तक किए गए डामर में डब्लू एम एम के ऊपर मात्र एक कोड इमल्शन का छिड़काव कर डामर किया गया है ।

ग्रेडिंग का है अभाव

मार्ग निर्माण के लिए उपयोग किए जा रहे मटेरियल गिट्टी ,राखड़ ,ओवरसाइज इत्यादि का उपयुक्त ग्रेडिंग का पूर्णता अभाव दिखाई दिया तथा साइड पर स्टोर किए गए राखड़ युक्त क्रेशर स्टोन को सीधे जेसीबी से हाईवा में लोड कर सड़क पर बिछाई जाती है जबकि एक निर्धारित मात्रा में उक्त मटेरियल को मिक्स कर डालने पर ही मार्ग का गुणवत्ता युक्त निर्माण संभव है किंतु यहां ग्रेडिंग का पूर्णत अभाव दिखा ।

सीधी: स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही बनी जानलेवा, पढ़िए पूरी खबर

ऊपर से होता है पानी का छिड़काव

डब्ल्यू एम एम के नाम पर राखड़ युक्त सुखी गिट्टी बिछाई जा रही है और उक्त राखंड युक्त गिट्टी पर ट्रैक्टर टैंकर से पानी का छिड़काव किया जाता है जिससे पानी गिट्टी में ना समाहित होकर रोड से बाहर इधर उधर बह जाता है जबकि एक उचित मात्रा में पहले से ही पानी से सनी हुई राखड़ युक्त गिट्टी डाली जाती है किंतु यहां ऊपर से पानी का छिड़काव कर रोलिंग कर दिया जाता है ।

विभाग को ध्यान देने की है आवश्यकता

उक्त मार्ग निर्माण में हो रहे भ्रष्टाचार, मापदंडों की अनदेखी ,एवं घटिया मटेरियल के इस्तेमाल को लेकर प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के वरिष्ठ अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट कराते हुए जांच की मांग की गई है साथ ही ठेकेदार की मनमानी पर विराम लगाने एवं समय समय पर कार्य की देखरेख की भी आवश्यकता है जिससे कि इस महत्वपूर्ण योजना का क्षेत्रवासियों को समुचित लाभ मिल सके ।

रीवा: नेशनल हाईवे पर तेज रफ्तार बाइक फिसलने से एक की मौत, दूसरा घायल

(signoff)