मध्यप्रदेश : जानिए ट्रेन में ऐसा क्या हो रहा है की स्टाफ लगा रहा प्रशासन से तबादले की गुहार

Madhya Pradesh

जबलपुर. पश्चिम मध्य रेलवे के जबलपुर रेल मंडल अंतर्गत सतना-मानिकपुर रेलखंड के 3 स्टेशनों के स्टाफ ने डकैतों से भयभीत होकर रेल प्रशासन को तबादले का आवेदन देने का निर्णय लिया है. वहीं रनिंग स्टाफ गार्ड, लोको पायलट व सहायक पायलटों ने भी रेल प्रशासन से मांग की है कि यदि इस रेलखंड पर उनकी सुरक्षा इंतजाम पुख्ता नहीं किये जाते हैं तो वे यहां पर ड्यूटी पर नहीं जाएंगे. दूसरी तरफ शुक्रवार की देर रात मालगाड़ी के गार्ड के साथ बांसापहाड़ स्टेशन के समीप हुई मारपीट व लूटपाट की घटना पर गहरा आक्रोश व्यक्त किया है.

श्रमिक संगठनों ने मांग की है कि रेल प्रशासन स्टाफ की सुरक्षा सुनिश्चित करें, वरना यहां पर रेल संचालन बाधित हो सकता है.
उल्लेखनीय है कि जबलपुर रेल मंडल का सतना-मानिकपुर खंड का 4 स्टेशन डकैतों के प्रभावित क्षेत्रों में माना जाता है. यहां पर कई बार डकैतों का स्टेशनों पर हमले की घटनाएं भी सामने आती रही हैं. पिछले साल तो डकैतों ने टिकरिया स्टेशन पर हमला बोलते हुए एक रेल कर्मचारी का अपहरण भी कर लिया था और स्टेशन मास्टर सहित अन्य कर्मचारी डर के मारे स्टेशन से भाग गये थे, जिसके बाद रेल संचालन प्रभावित हुआ था. उस घटना के दौरान भी आरपीएफ की फोर्स यहां पर तैनात की गई थी. इसके बावजूद डकैतों का प्रभाव कम नहीं हो रहा है.

गार्ड की पिटाई, लूटपाट के बाद तबादले की गुहार

बताया जाता है कि गत शुक्रवार को बांसापहाड़ के होम सिग्नल पर मालगाड़ी को रोककर डकैतों ने गार्ड हर्षवर्धन सिंह की जमकर पिटाई करते हुए उसके साथ लूट भी की थी. डकैत धमकी देते हुए गये थे कि वे आगे भी इसी तरह की घटना यहां पर करते रहेंगे. इस घटना के बाद शनिवार 11 अगस्त को रेल कर्मचारी की ओर से मझगवां थाना में घटना की रिपोर्ट दर्ज कराई गई है, जिसके बाद आरपीएफ, जिला पुलिस की गश्त इस रेलखंड में तेज कर दी गई है, किंतु रेल कर्मचारियों का भय नहीं जा रहा है.

इस रेलखंड के चितहरा, टिकरिया, बांसापहाड़, मारकुंडी स्टेशन का स्टाफ जिसमें प्वाइंट्समैन, स्टेशन मास्टर, ट्रेकमैन व गेटमैन शामिल हैं, वे काफी डरे-सहमे हुए हैं. वे यहां से तबादला चाह रहे हैं और इसके लिए एक सामूहिक आवेदन रेल प्रशासन को देने की तैयारी की जा रही है.

इनका कहना….

– डकैतों द्वारा मालगाड़ी रोककर गार्ड के साथ मारपीट की घटना काफी चिंताजनक है. पूर्व में भी इस रेलखंड में डकैतों के हमले की कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं. पमरे एम्पलाइज यूनियन रेल कर्मचारियों की सुरक्षा को लेकर चिंतित है. मंडल रेल प्रबंधक से सुरक्षा पुख्ता करने की मांग की है.

नवीन लिटोरिया, मंडल सचिव, पमरे एम्पलाइज यूनियन, जबलपुर
…………
– डकैतों के हमले व धमकी से स्टाफ भयभीत है. जिसके चलते सतना-मानिकपुर रेलखंड के बीच काफी चिंताजनक स्थिति है. मजदूर संघ ने रेल प्रशासन से कर्मचारियों की सुरक्षा को सर्वोपरि बताते हुए सुरक्षा व्यवस्था कड़ी करने की मांग की है.

-डीपी अग्रवाल, मंडल सचिव, पमरे मजदूर संघ, जबलपुर.

Facebook Comments