NAT में परीक्षा लेने वाला देश का पहला संस्थान होगा भोपाल का IHM

NAT में परीक्षा लेने वाला देश का पहला संस्थान होगा भोपाल का IHM

मध्यप्रदेश

NAT में परीक्षा लेने वाला देश का पहला संस्थान होगा भोपाल का IHM

पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री सुश्री उषा ठाकुर ने भोपाल स्थित होटल मैनेजमेंट संस्थान (नेशनल काउंसिल फॉर होटल मैनेजमेंट एण्ड केटरिंग टेक्नालॉजी) का निरीक्षण किया। उन्होंने मैनेजमेंट को अनुसूचित जाति और जनजाति के छात्र-छात्राओं का प्रवेश सुनिश्चित करने के लिये कोष बनाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि इससे धनाभाव के कारण छात्र-छात्राएँ शिक्षा से वंचित नहीं होंगे।

ड्राइविंग लाइसेंस को लेकर आ गया नया नियम, अब ऐसे लोगो का नहीं बनेगा लाइसेंस

प्राचार्य श्री आनंद कुमार सिंह ने बताया कि भोपाल का यह संस्थान देश में पहली बार 29 अगस्त को राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (NAT) के तहत ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा आयोजित करने जा रहा है। संस्थान के छात्रों का प्लेसमेंट प्रतिशत 200 से 300 प्रतिशत है। संस्थान के 950 विद्यार्थियों की ऑनलाइन क्लासेस जारी हैं। अब तक 52 वेबिनार भी हो चुके हैं।

मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड के संचालक डॉ. मनोज सिंह, मध्यप्रदेश इंस्टीट्यूट ऑफ हॉस्पिटेलिटी, ट्रेवल एण्ड टूरिज्म स्टडीज के संचालक डॉ. पी.के. सिन्हा और संस्थान के प्रोफेसर्स भी उपस्थित. 


आपकी बेटी है 18 वर्ष की तो उसे मिलेंगे 1 लाख रूपए, पढ़िए पूरी खबर

भोपाल: मध्यप्रदेश में शिवराज सरकार की शुरू की हुई लाड़ली लक्ष्मी योजना काफी कारगार साबित हो रही है. शिवराज सरकार की इस योजना का लाभ केवल मध्यप्रदेश की कन्याओ को मिलेगा। मिली जानकरी के मुताबिक 2007 में शुरू की गई ये योजना का लाभ आप भी उठा सकते है. बेटी के जन्म से लेकर शादी तक का सारा खर्चा शिवराज सरकार उठाएंगी और 1 लाख रूपए भी शादी में देगी। सरकार के मुताबिक लड़की की उम्र 18 वर्ष होने के बाद ही पैसे दिए जाएंगे। 

शिवराज सरकार ने दी मध्यप्रदेश के पुलिसकर्मी को बड़ी सौगात, पढ़िए पूरी खबर

ऐसे उठाये लाभ 

इस योजना के तहत सरकार, बेटी के जन्म से अगले पाँच साल तक प्रत्येक वर्ष 6,000 रुपये के राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र खरीदेगी, और इन्हें समय-समय पर नवीनीकृत किया जाता रहेगा। लड़की को छठी कक्षा में प्रवेश के समय 2,000 और नौवीं कक्षा में प्रवेश पर 4000 रुपये का भुगतान किया जायेगा। जब उसे 11वीं कक्षा में भर्ती कराया जाता है, तो उसे 7,500 प्राप्त होगा। अपनी उच्च माध्यमिक शिक्षा के दौरान, उसे 2000 रुपये प्रत्येक महीने दिया जायेगा। 21 वर्ष की समाप्ति पर उसे 1 लाख से ज्यादा की शेष राशि का भुगतान किया जायेगा। हालांकि, ये पैसा उसकी शादी पर ही जारी किया जाएगा।

शिवराज सरकार की इस योजना से मोदी सरकार भी प्रभावित हुए थे और काफी तारीफ भी की थी. हालांकि कांग्रेस सरकार के आ जाने के बाद इस योजना में ज्यादा ध्यान नहीं दिया गया. कमलनाथ सरकार की विफलताओं के कारण सरकार को मध्यप्रदेश की जनता ने नकार भी दिया और अंत में उनकी सरकार गिर भी गई. 

भाजपा के सत्ता में आते ही शिवराज ने अपनी बंद सभी योजनाओ को फिर चालू कर दिया जिसके बाद मध्यप्रदेश में फिर विकास की धाराएं बहने लगी. कांग्रेस से भाजपा में आए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा की कांग्रेस हमेशा पैसो का रोना रोटी रही और शिवराज ने आते ही पैसो की बारिश कर दी. 

रीवा: चाकघाट नगर परिषद की बड़ी लापरवाहीं, नाली की सफाई कर ढकना भूल गए

रीवा: झांसा देकर दूसरी शादी रचाने वाला युवक गिरफ्तार, पढ़िए…