CM शिवराज का अब तक का सबसे बड़ा बयान, ये है मामला1 min read

Madhya Pradesh

भोपाल के हॉस्टल में संचालक द्वारा मूक बधिर छात्रा के साथ रेप की घटना ने जहां पूरे सूबे की राजनीति को गरमा दिया है, तो वहीं सूबे के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आदेश दिया कि शेल्टर होम्स का निरीक्षण हर महीने किया जाए.

बैठक में सीएम शिवराज ने निर्देश दिया है कि मध्य प्रदेश में बने सभी शेल्टर होम्स का हर महीने निरीक्षण किया जाए. इस उच्च स्तरीय बैठक में पुलिस के आला अधिकारी भी मौजूद थे. बैठक के दौरान सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि निजी संचालकों द्वारा चलाए जा रहे गर्ल्स हॉस्टल के लिए भी नियम बनाए जाए.

शिवराज ने कहा कि मूक-बधिर छात्रा से रेप के आरोपी को कड़ी सजा दिलाई जाएगी. आपको बता दें कि फिलहाल अनुदान प्राप्त शेल्टर होम्स का हर 2 महीने में निरीक्षण करने का नियम है, लेकिन बैठक में सीएम ने सख्त निर्देश दिए हैं कि उन सभी अनुदान प्राप्त प्राइवेट और सरकारी शेल्टर होम्स का अब हर महीने निरीक्षण किया जाए, जहां छात्राओं के रहने की व्यवस्था है.

साथ ही सीएम शिवराज ने अनाथालयों की भी जांच करने के आदेश जारी करते हुए कहा कि प्राइवेट गर्ल्स हॉस्टल के लिए भी नियम बनाए जाएंगे और ऐसी व्यवस्था की जाएगी कि इनका भी हर महीने निरीक्षण किया जा सके.

आईजी ने बनाई एसआईटी

मूक-बधिर छात्रा से रेप के मामले में भोपाल आईजी जयदीप प्रसाद ने शुक्रवार को अवधपुरी की उस कॉलोनी में पहुंचे जहां छात्रा ने खुद के साथ रेप होने की बात का खुलासा किया था. जयदीप प्रसाद ने बताया कि मामले की जांच के लिए उन्होने एसआईटी का गठन किया है जिसे भोपाल (साउथ) एसपी राहुल कुमार लोढ़ा लीड करेंगे. इसके अलावा पुलिस ने उस इमारत को भी सील कर दिया है जहां रेप की घटना को अंजाम दिया गया.

Facebook Comments