केरल में हुई तबाही के बाद मध्यप्रदेश को अब तक की सबसे बड़ी चेतावनी, इतने दिन है खतरनाक1 min read

Madhya Pradesh

भोपाल। मौसम विभाग ने एक बार फिर मध्यप्रदेश समेत देश के 21 राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। उधर, केरल में हुई तबाही के बाद 28 लोगों की मौत के समाचार हैं, वहीं सैकड़ों पर्यटक केरल में फंसे हुए हैं।

मौसम विभाग के अनुसार बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती तूफान का असर कई राज्यों में पड़ रहा है। तटीय राज्य ओडिशा, पश्चिम बंगाल से लेकर छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश में मानसून सक्रिय है। पूर्वी मध्यप्रदेश में कम तबाव का क्षेत्र बना हुआ है। साथ ही हवा के ऊपरी हिस्से में साढ़े तीन किलोमीटर ऊंचाई पर चक्रवादी हवा का घेरा बनने से मानसून दक्षिण की तरफ झुक गया है, जो वहां आफत बरपा रहा है।

21 राज्यों में बाढ़ का खतरा
इस बार अच्छी बारिश की उम्मीद पहले से ही की जा रही है, लेकिन मध्यप्रदेश समेत देश के कई राज्यों में आफत की बारिश भी हो रही है। मौसम विभाग के मुताबिक मध्यप्रदेश के अलावा जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, झारखंड, बिहार, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, त्रिपुरा,मणिपुर,नगालैंड, मिजोरम, तमिलनाडु, कर्नाटक, केरल और अंडमान निकोबार द्वीप समूह में अगले तीन दिन भारी बारिश के आसार हैं।

MP के लिए तीन दिन ज्यादा खतरनाक
मौसम विभाग के मुताबिक 20-23 अगस्त मध्यप्रदेश के लिए ज्यादा खतरनाक साबित हो सकते हैं। इसके अलावा रविवार 12 से 16 अगस्त तक भी बारिश का दौर चलता रहेगा।

एमपी में कहां क्या स्थिति
-मध्य प्रदेश में कुछ जिलों में पिछले दो दिनों से कहीं तेज तो कहीं हल्की बारिश का दौर चल रहा है।
-श्योपुर जिले के जंगल में हुई बारिश से शहरी क्षेत्र में बाढ़ आ गई।
-शिवपुरी के लुकवासा गांव में धूप खिलने के बाद जंगल में भारी बारिश का पानी गांव आ गया। इस दौरान एक शव यात्रा को बड़ी मुश्किल से नदी पार करना पड़ा।
-जबलपुर में भी तालाब की पाल टूट जाने से शहर में पानी भरने की खबर है। ताबाब की पाल शनिवार सुबह टूटी, जिससे शारदा मंदिर और शक्तिनगर की सड़कों पर 1 से 2 फीट तक पानी बहने लगा। पानी का वेग इतना ज्यादा था कि सड़क पर खड़ी कई मोटरसाइकिल और हल्के दो पहिया वाहन बहने लगे।

Facebook Comments