मध्यप्रदेश में हायर सेकेण्डरी एवं हाईस्कूल पूरक परीक्षा 14 सितंबर से....

MP: 4 अगस्त से भरे जाएंगे पूरक परीक्षा के आवेदन फार्म, ऑनलाइन भरे जाएंगे फॉर्म

भोपाल मध्यप्रदेश

MP: 4 अगस्त से भरे जाएंगे पूरक परीक्षा के आवेदन फार्म, ऑनलाइन भरे जाएंगे फॉर्म

MP: हायर सेकंडरी एवं हाईस्कूल परीक्षा वर्ष 2020 की पूरक परीक्षा एवं हायर सेकंडरी व्यावसायिक पाठ्यक्रम द्वितीय अवसर परीक्षा के लिए आवेदन 4 अगस्त से हायर सेकंडरी परीक्षा प्रारंभ होने के एक दिन पूर्व मध्य रात्रि तक किए जा सकते हैं। आधिकारिक जानकारी के अनुसार इसी प्रकार हायर सेकंडरी व्यावसायिक तथा हाईस्कूल परीक्षा के लिए विषयवार परीक्षा प्रारंभ दिनांक के एक दिन पूर्व मध्य रात्रि तक भरे जा सकेंगे।

रीवा बना मध्यप्रदेश का एकलौता जिला जहां सिलिका का भंडार मिला, अब कांच भी बनेंगे, पढ़ें पूरी खबर

पूरक पात्र छात्र स्वयं एमपी ऑनलाइन के कियोस्क पर अपनी मुख्य परीक्षा के परीक्षाफल के आधार पर पूरक के विषय, रोल नंबर की जानकारी देकर शुल्क अदा कर आवेदन-पत्र भर सकेंगे।

जो छात्र कियोस्क में जाकर पूरक परीक्षा के लिए आवेदन नहीं कर सकते, ऐसे नियमित छात्र अपनी शिक्षण संस्थान में तथा स्वाध्यायी छात्र आवदेन-पत्र अग्रेषण करने वाली संस्था में पूरक परीक्षा के आवेदन के लिए प्राचार्य को अपने नाम, अनुक्रमांक तथा पूरक के विषय की जानकारी भरने के साथ परीक्षा शुल्क जमा करा सकते हैं। संस्था ऐसे छात्रों को शुल्क जमा करने की रसीद देगी तथा कियोस्क में ऑनलाइन आवेदन भरेंगे।

MP: प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेण्डर योजना में लापरवाही पर दो CMO को मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने हटाया

हायर सेकंडरी परीक्षा में केवल एक विषय तथा हाईस्कूल परीक्षा में 2 विषयों में अनुत्तीर्ण छात्रों को ही पूरक की पात्रता प्रदान की गई है। हायर सेकंडरी के समस्त विषयों की पूरक परीक्षा 14 सितंबर को होगी। हाईस्कूल पूरक परीक्षा 15 सितंबर से 22 सितंबर तक सुबह 9 से 12 बजे तक संपन्न होगी। पूरक परीक्षा में शामिल होने वाले सभी परीक्षार्थियों के प्रवेश-पत्र 5 सितंबर से ऑनलाइन प्राप्त किए जा सकेंगे।

हायर सेकंडरी एवं हाईस्कूल सर्टिफिकेट परीक्षा के ऐसे विषय जिनमें प्रायोगिक परीक्षा के प्रावधान है, सैद्धांतिक अथवा प्रायोगिक भाग जिसमें भी छात्र अनुत्तीर्ण रहे हैं केवल उसी भाग की परीक्षा में शामिल हो सकेंगे। यदि कोई छात्र केवल प्रायोगिक परीक्षा में अनुत्तीर्ण है तो उसे सैद्धांतिक परीक्षा में शामिल होने की आवश्यकता नहीं है। इसी प्रकार यदि कोई छात्र सैद्धांतिक परीक्षा में अनुत्तीर्ण है तो उसे प्रायोगिक परीक्षा में शामिल होने की आवश्यकता नहीं है।

[रीवा से विपिन तिवारी की रिपोर्ट]

जबलपुर में कोरोना ब्लास्ट, एक दिन में मिलें 125 पॉजिटिव मरीज, दो की मौत

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: FacebookTwitterWhatsAppTelegramGoogle NewsInstagram
Facebook Comments
Tagged