बड़ी खबर : चुनाव आयोग ने काटे 24 लाख से ज्यादा मतदाताओं के नाम, यहां ऑनलाइन चैक करें अपना नाम

मध्यप्रदेश

भोपालः मध्य प्रदेश में कांग्रेस द्वारा चुनाव आयोग को शिकायत के बाद प्रदेश भर में फर्जी वोटरों का फिल्टर करने के लिए चुनाव आयोग द्वारा की गई जांच में अब तक 24 लाख से ज्यादा फर्जी माने जाने वाले वोटर्स के नाम लिस्ट से हटाए दिए गए हैं। इनमें सबसे ज्यादा नाम भोपाल की हुजूर विधान सभा सीट में सामने आए हैं। इसके बाद दूसरे नबंर पर इंदौर में बोगस वोटरों के नाम चुनाव आयोग को मिले। चुनाव आयोग द्वारा कराए इस सर्वे के दौरान एक ख़ास बात ये भी निकलकर सामने आई कि, वोगस वोटर्स के नाम जहां ज्यादा पैमाने पर सामने आए उनमें प्रदेश के मंत्रियों और बड़े नेताओं के इलाके शामिल हैं।

इन लोगों के हटाए गए नाम

हालांकि, चुनाव आयोग ने यह बात साफ कर दी कि, सर्वे के दौरान जिन बोगस वोटर्स के नाम मतदाता सूचि से हटाए गए हैं, उनमें वोटर लिस्ट में एबसेंट, शिफ्टेड, मृत और फर्जी मतदाओं के नाम हटए गए हैं। इसके अलावा इस साल प्रदेश के जो नौजवान 18 साल के हो गए हैं, उनके नाम वोटर लिस्ट में जोड़े भी गए हैं।

राजधानी में फर्जी अव्वल

कांग्रेस की शिकायत के बाद किए सर्वे के बाद आए परिणाम को देखते चुनाव आयोग इस बात को तो मान रहा है, प्रदेश में बड़ी संख्या में बोगस वोटर्स शामिल थे, जिनके द्वारा फर्जी वोटिंग भी हो सकती थी। लेकिन, चुनाव आयोग ने यह भी साफ किया कि, कांग्रेस की तरफ से जो शिकायत की गई थी कि, वह पूरी तरह से सिद्ध नहीं होती। हालांकि, मतदाता सूची में से 24 लाख नाम हटा दिए गए हैं। लेकिन इसमें चौंकाने वाली बात ये भी रही कि, चुनाव आयोग को सबसे ज़्यादा फर्ज़ी मतदाता भोपाल की हुजूर विधानसभा में मिले जिनकी संख्या 36 हज़ार 205 है। यह विधानसभा क्षेत्र बीजेपी के रामेश्वर शर्मा की विधायीका में आता है।

इन विधानसभा क्षेत्रों में हटाए गए बड़ी तादाद में बोगस वोटर्स के नाम

इसके अलावा इंदौर में बीजेपी विधायक महेंद्र हार्डिया के क्षेत्र में 31 बज़ार 789 वोटर्स के नाम लिस्ट से काटे गए। मंत्री इनमें विश्वास सारंग की नरेला विधानसभा क्षेत्र से 28606 वोटर्स के नाम हटे, रुस्तम सिंह की मुरैना से 27281 वोटर्स, उमाशंकर गुप्ता की दक्षिण पश्चिम विधानसभा से 25820, सुरेद्र पटवा की भोजपुर सीट से 22851 और शिवपुरी में 21928 बोगस वोटर्स के नाम हटाए गए। वहीं, कांग्रेस के नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह की चुरहट सीट में 9861 बोगस वोटर्स मिले। बीजेपी के वरिष्ठ नेता बाबूलाल गौर के गोविंदपुरा इलाके में ऐसे 21837 वोटर्स मिले। भोपाल उत्तर में कांग्रेस विधायक आरिफ अकील के क्षेत्र से 18167, भोपाल मध्य में 22591, राऊ से कांग्रेस नेता जीतू पटवारी के विधानसभा इलाके से 26 हज़ार 359 बोगस वोटर्स के नाम मतदाता सूचि से हटाए गए।

नए भी जोड़ गए नाम

इसके अलावा प्रदेश की मतदाता सूची में 11 लाख 40 हजार नए मतदाताओं के नाम जोड़े भी गए हैं। जिसके बाद अब प्रदेश में कुल मतदाताओं की संख्या 4 करोड़ 94 लाख 42 हजार हो गई है। बता दें कि, इस सूची में 30 जून तक जोड़े गए मतदाताओं के नाम शामिल हैं। आयोग द्वारा जारी ड्रॉफ्ट में यह बात भी सामने आई कि, पांच साल यानी 2013 की वोटर लिस्ट में 4 करोड़ 66 लाख मतदाता थे और 31 जुलाई 2018 को मतदाताओं की संख्या 4 करोड़ 94 लाख 42 हजार है। इस हिसाब से सिर्फ 28 लाख वोटर ही बढ़े। इससे पहले 2008 से 2013 के बीच मतदाता सूची में रिकार्ड 1 करोड़ 5 लाख नए नाम जुड़े थे। यानी 2008 में मतदाता थे 3 करोड़ 61 लाख और 2013 में यह संख्या बढ़कर हो गई थी, 4 करोड़ 66 लाख। इन पांच सालों में मतदाताओं में हुई रिकाॅर्ड बढ़ोतरी की अब तक जांच जारी है।

इस तरह चैक करें अपना नाम

इसी कड़ी में अगर आप यह जानना चाहते हैं कि, मतदाता सूचि में आपका नाम सही है या नहीं, इलेक्शन कमीशन ऑफ इंडिया की आधिकारिक वेबसाइट पर अपने नाम और मौजूदा वोटर लिस्ट का नंबर डालकर जांच कर सकते हैं कि, मतदाता सूचि में आपका नाम सही है या नहीं, ताकि मतदान के दिन आपको किसी समस्या का सामना ना करना पड़े।