दिल्ली से नहीं लौटे Narottam, शिवराज लौट आए, पढ़िए पूरी खबर

दिल्ली से नहीं लौटे Narottam, शिवराज लौट आए, पढ़िए पूरी खबर

मध्यप्रदेश

दिल्ली से नहीं लौटे Narottam, शिवराज लौट आए, पढ़िए पूरी खबर

मध्य प्रदेश में मंत्रिमंडल के दूसरे विस्तार पर अब भी पेंच फंसा हुआ है और नेताओं के बीच सहमति न बनने से शपथ ग्रहण की तारीख तय नहीं हो पा रही है। दो दिन तक दिल्ली में रहने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मंगलवार को भोपाल लौट आए। उनकी कई बैठकें भी आज प्रस्तावित हैं।

मध्यप्रदेश / मंत्रिमंडल विस्तार फिर टला, सीएम शिवराज भोपाल पहुंचे, राजनीति में बड़े उलटफेर की अटकलें

मुख्यमंत्री चौहान और प्रदेश संगठन के दोनों प्रमुख पदाधिकारी अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा और प्रदेश महामंत्री संगठन सुहास भगत के साथ रविवार को राज्य सरकार के विमान से दिल्ली गए थे और संभावना इस बात की जताई जा रही थी कि मंत्रिमंडल का दूसरा विस्तार मंगलवार या बुधवार को हो सकता है।

चौहान की दिल्ली में पार्टी के अध्यक्ष जेपी नड्डा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के अलावा हाल ही में भाजपा में आए नवनिर्वाचित राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया से भी मुलाकात हुई।

इस घटना से दहल जाएगा आपका दिल, मध्यप्रदेश में 20 साल की युवती से 4 नाबालिगों ने किया गैंगरेप फिर…

नरोत्तम नहीं लौटे भोपाल
मंत्रिमंडव विस्तार को लेकर जारी भारी माथा पच्ची के बीच जब ऐसा लग रहा था कि 30 जून को नया मंत्रिमंडल आकार ले लेगा. उसी दौरान प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा कल सोमवार को अचानक दिल्ली पहुंच गए थे.लेकिन आज वो तीनों नेताओं के साथ वापस नहीं आये हैं.

प्रकृति की खूबसूरती / इंद्रधनुषी रंग में रंगा रीवा का 430 फिट ऊंचा क्योंटी जलप्रपात

नरोत्तम मिश्रा सोमवार को ग्वालियर में थे. उन्हें भोपाल लौटना था. यहां उनके कई कार्यक्रम तय थे. लेकिन अचानक उन्हें दिल्ली से बुलावा आ गया और वो ग्वालियर से सीधे दिल्ली भागे गए. भोपाल के उनके सारे कार्यक्रम रद्द कर दिए गए. यह माना जा रहा है कि संभावित मंत्रिमंडल विस्तार में पेंच फंसने की वजह से ग्वालियर चंबल के सभी प्रमुख नेताओं को दिल्ली बुलाया गया था. हालांकि केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया पहले से ही दिल्ली में मौजूद थे. सूत्रों की मानें तो उप चुनाव में ग्वालियर चंबल की सबसे ज्यादा   16 सीट होने की वजह से मंत्रिमंडल विस्तार में वहां का गणित साधने पर खासतौर से चर्चा की गई

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:  FacebookTwitterWhatsAppTelegramGoogle NewsInstagram

Facebook Comments