शिवराज देंगे बड़ी सौगात, लाखों लोगों की खुल जाएगी किस्मत

मध्यप्रदेश

भोपालः मध्य प्रदेश का युवा सरकार से नाखुश है, इसका बड़ा कारण है, बेरोज़गारी। इधर साल खत्म होते होते नजदीक आने वाले विधानसभा चुनावों के साथ युवाओं की बेरुखी प्रदेश सरकार की चिंता बढ़ा रही थी। इसी के मद्देनज़र अब सरकार ने प्रदेश के युवाओं के लिए एक बड़ा पिटारा खोलने का फैसला लिया है। इसके तहत शनिवार को बेहद अहम दिन माना जा रहा है। शनिवार का दिन प्रदेश के युवाओं को रोजगार के मौके उपलब्ध कराने के नाम रहेगा। इसमें सरकार द्वारा सवा लाख युवाओं को रोजगार के ऑफर लेटर दिए जाएंगे, वहीं डेढ़ लाख से ज्यादा युवाओं के विभिन्न् योजनाओं में स्वरोजगार के प्रकरण मंजूरी के पत्र भी दिए जाएंगे।

बुदनी में होगा मुख्य आयोजन

युवाओं को यह खास सौगात देने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अधयक्षता में आज बुदनी में स्वरोज़गार सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है। मंत्रियों को गृह जिले में आयोजित सम्मेलन का मुख्य अतिथि बनाया गया है। इनमें जिलेवार युवाओं को रोज़गार और स्वरोजगार की सौगातें दी जाएंगी। बता दें कि, इनमें सबसे ज्यादा रोजगार के मौके इंदौर जिले को मिलने वाले हैं। वहीं, सबसे कम रोज़गार फिलहाल सीहोर जिले के खाते में आएंगे। हालांकि, सरकार के सूत्रों की माने तो इसके पीछे का कारण जिले की आबादी और व्यवसाय सुगमता को देखते हुए दी गई है।

इन क्षेत्रों में रोज़गार के अवसर

जिन सवा लाख युवाओं को रोजगार के अवसर मुहैया हुए हैं उनमें सर्वाधिक 24 हजार पर्यटन और सेवा (टूरिज्म एण्ड हॉस्पिटेलिटी) क्षेत्र में हैं। इसके अलावा टेक्सटाइल और मैनेजमेंट क्षेत्र में 7-7 प्रतिशत, सिक्योरिटी और ऑटोमोबाइल क्षेत्र में 6-6 प्रतिशत, कृषि क्षेत्र में 5 फीसदी सहित सेल्स, इलेक्ट्रॉनिक्स, इंजीनियरिंग, रिटेल, उद्यानिकी, खाद्य प्रसंस्करण, निर्माण सहित अन्य क्षेत्रों में रोजगार के अवसर प्राप्त हुए हैं। तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग के अधिकारियों के मुताबिक, युवाओं को रोजगार के मौके उपलब्ध कराने के लिए मई, जून और जुलाई से अब तक 158 मेले लगाए जा चुके है। 20 जिलों से 46 नर्सों का चयन ब्रिटेन में सेवा देने के लिए हुआ। मेले में सुजुकी, आयशर, रिलायंस, एल एण्ड टी, टाटा मोटर्स, यूरेकाफोर्ब्स, मैग्नम, आईसीआईसीआई, एसबीआई, वर्धमान, आनंद, यशस्वी सहित 200 निजी कपंनियों ने भागीदारी की। कंपनियों ने तीन-चार चरण में चयन प्रक्रिया कर 1 लाख 25 हजार 758 युवाओं को चुना है।

जिलेवार इतने लोगों को मिलेगा ऑफर लेटर

बता दें कि, सरकार द्वारा जिन युवाओं को योजना के तहत रोज़गार का लाभ मिलने जा रहा है, उनमें सबसे ज्यादा लाभान्वित होने वाले युवा प्रदेश के इंदोर जिले से है, जिनकी संख्या लगभग 12 हजार 206 है। इसके अलावा जबलपुर के 8 हजार 777 युवाओं को रोज़गार मिलने वाला है। वहीं, बैतूल के 8 हजार 430 युवा योजना से लाभान्वित होंगे। उज्जैन के 6 हजार 487 युवाओ को लाभ मिलेगा। देवास के 5 हजार 438 युवा बेरजगारी के दंश से मुक्त होंगे। होशंगाबाद के 5 हजार 58 युवाओं को लाभ मिलेगा। भोपाल के 4 हजार 503 युवा बेरोज़गारी से मुक्त होंगे। ग्वालियर के 4 हजार 146 को इसका लाभ मिलेगा। सागर के 3 हजार 685 युवा लाभान्वित होंगे। धार के 3 हजार 591 युवाओं को इसका फायदा होगा। वहीं, सीहोर के 2 हजार 487 युवाओं को योजना का बड़ा लाभ मिलने जा रहा है।

केबिनेट में लिया गया था फैसला

दरअसल, सोमवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में हुई केबिनेट की बैठक में कई प्रस्तावों पर मुहर लगी थी, जिसमें से एक यह भी था कि, सरकार 4 अगस्त को पूरे प्रदेश में स्वरोज़गार मेले लगाकर प्रदेश के लगभग 2 लाख 80 हज़ार युवाओं को रोज़गार देगी। इसी के तहत आज बुदनी में आयोजित स्वरोज़गार मेले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एक साथ लाखों युवाओ को रोज़गार देने जा रहे हैं।