अपनी धरती से कोरोना का नामोनिशान मिटा न्यूज़ीलैण्ड ने रचा इतिहास, अब जश्न मना रहें लोग

रिसर्च रिपोर्ट : MP में मई तक CORONA के मामले होंगे 50 हजार से ज्यादा, पढ़िए

भोपाल मध्यप्रदेश

रिसर्च रिपोर्ट : MP में मई तक CORONA के मामले होंगे 50 हजार से ज्यादा, पढ़िए

भोपाल. MP के इंदौर में CORONA संक्रमितों का मामला लगातार बढ़ता जा रहा है। कोविड-19 के फैलाव को लेकर एक सांख्यिकीय अध्ययन में अनुमान जताया गया है कि मध्य प्रदेश में संक्रमण के मामले मई तक अपने चरम पर पहुंच सकते हैं। इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट ( आईआईएम ) इंदौर के प्रोफेसर सायंतन बनर्जी ने कोरोना संक्रमण को लेकर एक महत्वपूर्ण शोध किया है।

REWA: DOCTOR ने छुपाई अपने बेटी की Travel history, पुणे से आई थी…

क्या है रिपोर्ट में

शोध रिपोर्ट के अनुसार, वर्तमान दर पर मामले बढ़ते रहे तो MP में अप्रैल के अंत तक 2500 मामले हो सकते हैं। मई के अंत तक CORONA संक्रमितों को आंकड़ा 50 हजार तक पहुंच जाएगा। शोध का मकसद कोविड 19 के लिए अनुमान लगाने वाला मॉडल विकसित करना है। शोध में मिशिगन यूनिवर्सिटी के प्रोफोसेर वीरा बालदंडयुथपाणि, प्रोफेसर रूपम भट्टाचार्य, प्रोफेसर सारिक मोहम्मद और प्रोफेसर उपली नंदा भी सहयोग कर रहे हैं।

10 दिन में दोगुने हुए मामले
प्रो बनर्जी ने बताया कि MP में उपलब्ध अस्पताल के बिस्तरों की वर्तमान संख्या और महामारी बढ़ने के विभिन्न परिदृश्यों की स्थिति का आकलन किया गया है। 10 दिन में मामले दोगुने हुए हैं। इस दर को मानते हुए मध्य मई के दौरान संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ सकते हैं।

REWA: जाते-जाते 1.68 करोड़ रूपए का चूना लगा गए तत्कालीन निगमायुक्त सभाजीत यादव

अतिरिक्त बिस्तरों की पड़ेगी जरूरत
MP में अध्ययन के मुताबिक ऐसे में राज्य के अस्पतालों में करीब 27,000 अतिरिक्त बिस्तरों की जरूरत पड़ सकती है। इंदौर के भारतीय प्रबंध संस्थान (आईआईएम-आई) के प्रोफेसर सायंतन बनर्जी ने बताया कि उन्होंने मिशिगन विश्वविद्यालय के प्रोफेसर वीरा बालदंडयुथपाणि और अमेरिका के इस उच्च शिक्षा संस्थान के तीन अन्य शोधकर्ताओं के साथ यह अध्ययन किया है। हमारे सांख्यिकीय अध्ययन के मुताबिक प्रदेश में कोविड-19 के मरीजों की तादाद मई के मध्य में चरम पर पहुंच सकती है। ऐसे में राज्य के अस्पतालों में 12,000 से लेकर 27,000 तक अतिरिक्त बिस्तरों की जरूरत पड़ सकती है। बनर्जी ने सुझाव दिया कि प्रदेश सरकार को चाहिये कि वह लॉकडाउन अवधि का अधिकतम उपयोग करते हुए कोविड-19 से लड़ने के लिये चिकित्सा सुविधाएं बढ़ाये, लोगों की और तेजी से जांच कराये और समूची स्वास्थ्य प्रणाली को मजबूत बनाये।

REWA में मानो LOCKDOWN खत्म हो गया, कुछ ऐसा था नजारा

एमपी में बढ़े मामले

बता दें कि देश में CORONA  वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में इंदौर भी शामलि है। शुक्रवार तक इंदौर में 842 मामले सामने आ चुके हैं। जबकि 47 लोगों की मौत हो गई है। MP में संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। MP में अभी तक 1286 संक्रमित सामने आ चुके हैं जबकि प्रदेश में 64 लोगों की मौत कोरोना संक्रमण के कारण हो गई है।

Facebook Comments