REWA में डॉक्टर का फूटा गुस्सा, दिया इस्तीफ़ा, मचा हड़कंप

MP में 69 DOCTOR की गिरफ्तारी की तैयारी, इलाज़ करने से मुकर गए थे

मध्यप्रदेश

MP में 69 DOCTOR की गिरफ्तारी की तैयारी, इलाज़ करने से मुकर गए थे

भोपाल. कोरोना संक्रमण (Coronavirus Infection) के मामले में हॉटस्पॉट (Hotspot) बने इंदौर में अब स्वास्थ्य अमले को बढ़ाने को लेकर सरकार की चिंता बढ़ गई है.

दरअसल, प्रदेश सरकार ने इंदौर में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए प्रशासनिक अफसरों की टीम से लेकर स्वास्थ्य अमले को तैनात करने का एक्शन प्लान तैयार किया था. इसके तहत 11 अप्रैल को सरकार ने आदेश जारी कर मेडिकल कॉलेज से पीजी कंप्लीट करने वाले स्टूडेंट्स को वहां तैनात करने का फैसला दिया था.

MP में CORONA पॉजिटिव रिपोर्ट आने पर दीवार कूद भागे 8 जमाती

विभाग ने 70 डॉक्टरों (DOCTOR) की ड्यूटी इंदौर में लगाई थी और सभी डॉक्टरों (DOCTOR) को कहा गया था कि वह इंदौर में मुख्य चिकित्सा अधिकारी के कार्यालय में अपनी ज्वानिंग देकर कोरोना वायरस को रोकने में अपना सहयोग दें, लेकिन 11 अप्रैल के आदेश के बाद अब तक मात्र एक डॉक्टर इंदौर में अपनी जॉइनिंग दी है, बाकी 69 डॉक्टर इंदौर जाने से बच रहे हैं.

मध्यप्रदेश में शिवराज मंत्रिमंडल के गठन की सुगबुगाहट, 6 से 10 मंत्री ले सकते हैं शपथ

69 डॉक्टरों (DOCTOR) को दी गई है चेतावनी
कोरोना संक्रमण के मामले में इंदौर में डॉक्टरों (DOCTOR) के न जाने के कदम को अब विभाग ने गंभीरता से लिया है. स्वास्थ्य विभाग ने एक आदेश जारी कर अब उन सभी 69 डॉक्टरों (DOCTOR) को चेतावनी दी है कि अगले 48 घंटे में वे पहुंचकर अपनी जॉइनिंग दें वरना उनके खिलाफ एस्मा (आवश्‍यक सेवा प्रबंधन अधिनियम) के तहत कार्रवाई की जाएगी.

साथ ही विभाग ने उन मेडिकल कॉलेजों को भी जानकारी देने को कहा है, जहां पीजी कंप्लीट कर चुके डॉ रेजिडेंट डॉक्टर के तौर पर काम कर रहे हैं. विभाग की कोशिश है कि ज्यादा से ज्यादा स्वास्थ्य अमले को इंदौर में तैनात कर कोरोना को रोका जाए.

INDORE और BHOPAL से आने वालो की जो सूचना देगा, मिलेगा इतने रूपए इनाम

48 घंटों में नहीं पहुंचने वाले डॉक्टरों (DOCTOR) पर हो सकती है कार्रवाई

सरकार अब निर्देशों का पालन नहीं करने वाले डॉक्टरों (DOCTOR) के खिलाफ सख्ती के मूड में है और अगले 48 घंटे में ज्वाइनिंग नहीं देने वाले डॉक्टरों (DOCTOR) के खिलाफ सरकार एक्शन लेने को तैयार दिख रही है. दरअसल, जिन डॉक्टरों (DOCTOR) की ड्यूटी इंदौर में लगाई गई थी, वह प्रदेश के मेडिकल कॉलेजों के पीजी कंप्लीट करने वाले स्टूडेंट हैं और जिनके साथ सरकार ने ग्रामीण इलाकों में सेवा देने का बांड भरवाया था की उनकी ड्यूटी इंदौर में लगाई गई थी.

MP Board 10th 12th Exam को लेकर बड़ी खबर, अभी पढ़िए

बहरहाल सरकार अब ऐसे डॉक्टरों (DOCTOR) के खिलाफ एक्शन के मूड में नजर आ रही है और इंतजार अब 17 अप्रैल तक का किया जा रहा है. उस वक्‍त तक ड्यूटी नहीं देने वाले डॉक्टरों (DOCTOR) के खिलाफ सरकार एक्शन लेगी.

क्या हो सकता है?
सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण फैलने के कारण पूरे प्रदेश में एस्मा लागू किया है. इसके तहत जरूरी सेवाएं देने से कोई इनकार नहीं कर सकता है और ऐसे में यदि यह डॉक्टर अपनी ज्वाइनिंग नहीं देते हैं तो सरकार इनके रजिस्ट्रेशन को निरस्त करने का भी फैसला ले सकती है.

MP में 69 DOCTOR की गिरफ्तारी की तैयारी, इलाज़ करने से मुकर गए थे

भोपाल. कोरोना संक्रमण (Coronavirus Infection) के मामले में हॉटस्पॉट (Hotspot) बने इंदौर में अब स्वास्थ्य अमले को बढ़ाने को लेकर सरकार की चिंता बढ़ गई है.

Facebook Comments