मप्र: सीधी में 68 वर्षीय बुजुर्ग महिला को जिन्दा जलाया

मध्यप्रदेश सीधी

सीधी। पूरा देश उग्र भीड़ की समस्या से जूझ रहा है। मॉब लिंचिंग की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। इस बार गुस्साई भीड़ का शिकार एक वृद्धा हुई। मध्य प्रदेश के सीधी से एक और मॉब लिंचिंग का दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक 68 वर्षीय वृद्ध औरत को लोगों ने बेरहमी से जलाकर मौत के घाट उतार दिया। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

क्या था मामला
कमर्जी थानान्तर्गत पाठ निवासी मुण्डी साहू पति स्व. जयकरण साहू 68 वर्ष रात में सो रही थी। देर रात अज्ञात लोगों ने घर में जबरदस्ती घुसकर नींद में ही बुजुर्ग पर केरोसिन डाल कर आग लगा दी। आग की चपेट में आने पर वृद्धा की चीख सुन आस पास के लोगों ने मौके पर पहुंचकर आग को बुझाया। लोगों ने आग बुझाने का प्रयास किया, लेकिन तब तक वृद्धा गंभीर रूप से जल चुकी थी। बेहद नाजुक हालत में महिला को जिला अस्पताल में सुबह 3:48 बजे पहुंचाया गया। अस्पताल में डॉक्टरों के परीक्षण के बाद मृत घोषित कर दिया।

आज सुबह पंचनामा एवं पोस्टमार्टम रिपोर्ट कार्रवाई के बाद अस्पताल सहायता केन्द्र पुलिस द्वारा लाश परिजनों केा सौंप दी गयी है। बताया जा रहा है कि औरत अकेली रहती थी। हमले में जान गंवा चुकी बुजुर्ग की तीन बेटियां थी, सभी की शादी हो चुकी है। पुलिस का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। सभी कागजी कार्रवाई के बाद परिवार वालों को शव सौंप दिया गया है।

भतीजा बना चश्मदीद
घटना के समय खेत में मौजूद मृतका के भतीजे राजेश साहू ने पुलिस में अपना बयान दर्ज कराया है। राजेश के मुताबिक़ रात 11 बजे अपने खेत में मवेशियों को चरते हुए देखा तो वहां उन्हें हटाने के लिए गया। अचानक चाची मुण्डी साहू के घर में तेज रोशनी देखी। जिसकी जानकारी तुरंत घर जाकर पत्नी को दी, जब दोनों लोग मौके पर पहुंचे तो चाची को बुरी तरह जला पाया। घटना की जानकारी 100 डायल और बाकी गांववालों को दी।

आशंका जताई जा रही है की इस घिनौने कृत्य को संपत्ति के लालच में अंजाम दिया गया है। मृतक महिला के करीबियों ने उसके परिजनों पर ही ह्त्या का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि यह हत्या जायदाद के लालच में हुई है।