Coronavirus in MP: 241-bed moving hospital ready in train

Coronavirus in MP: Train में 241 बेड का चलता-फिरता अस्पताल तैयार

भोपाल मध्यप्रदेश

Train में बनकर तैयार हुआ 241 बेड का चलता-फिरता अस्पताल (Mobile Isolation Ward)

Coronavirus in MP : भोपाल (Bhopal)। कोरोना वायरस (Coronavirus) से लड़ने MP के भोपाल (Bhopal) रेल मंडल में 241 बेड का चलता-फिरता अस्पताल तैयार हो गया है। यानी Train के कोच में मोबाइल आइसोलेशन वार्ड (Mobile Isolation Ward) बनाए हैं, जिनका Coronavirus संक्रमण प्रभावित क्षेत्रों में उपयोग किया जाएगा। ये वार्ड Train के एसी व जनरल कोचों में बनाए हैं। कोच में बेड के अलावा एक डॉक्टर-पैरामेडिकल कक्ष और एक दवा कक्ष है। ये आवश्यकता के अनुसार Train के साथ या अलग से चलाए जाएंगे, इसलिए इनका नाम मोबाइल आइसोलेशन वार्ड (Mobile Isolation Ward) रखा है। MP

सूत्रों के मुताबिक लॉकडाउन खुलने के बाद यात्री Train में यदि कोई संक्रमित मिलता है तो उसे मोबाइल आइसोलेशन वार्ड (Mobile Isolation Ward) में रखा जाएगा। फिलहाल ये MP के भोपाल (Bhopal), इटारसी, बीना, गुना में उपयोग करने तैयार किए हैं। 10 कोच में भोपाल (Bhopal) कोचिंग डिपो व 23 कोच में निशातपुरा रेलवे फैक्ट्री द्वारा आइसोलेशन वार्ड बनाए गए हैं।

भोपाल (Bhopal) रेल मंडल पश्चिम मध्य रेलवे में आता है। इसका जोन मुख्यालय जबलपुर (Jabalpur) है। मंडल मुख्यालय के भोपाल (Bhopal) कोचिंग डिपो में 24 कोच व निशातपुरा रेल कोच फैक्ट्री में 47 कोच के अंदर मोबाइल आइसोलेशन वार्ड (Mobile Isolation Ward) बनाए जा रहे हैं।

MP Lockdown: जिन छात्रों को नहीं मिल रहा भोजन, यहाँ करें Online शिकायत

रविवार शाम तक भोपाल (Bhopal) कोचिंग डिपो ने 10 व कोच फैक्ट्री ने 23 कोच में आइसोलेशन वार्ड बना दिए हैं। कोचिंग डिपो एक कोच में 8 व फैक्ट्री द्वारा एक कोच में 7 बेड तैयार किए हैं। इस तरह 33 कोच में 241 बेड का चलता फिरता अस्पताल तैयार हो चुका है। 37 कोच में वार्ड बनाने का काम चल रहा है। इनमें से 13 कोच में भोपाल (Bhopal) कोचिंग डिपो व 24 में कोच फैक्ट्री द्वारा आइसोलेशन वार्ड बनाए जा रहे हैं।

वार्ड में मच्छरदानी भी

Train के इन वार्डों में बिजली, पानी की व्यवस्था है। दवाइयां, मेडिकल उपकरण व ऑक्सीजन सिलेंडर, मेडिकल वेस्ट रखने के लिए डस्टबिन हैं। बाल्टी, मग्घा, स्टूल के इंतजाम हैं। बेड के बीच एक मीटर से अधिक का फासला है। एक कोच में तीन शौचालय और एक बाथरूम है। प्रत्येक वार्ड, शौचालय, बाथरूम में सैनिटाइजेशन की व्यवस्था है। सभी बेडों में मच्छरदानी, परदे लगे हैं, जो मरीजों को मच्छरों के काटने से बचाएगी।

भोपाल (Bhopal) रेल मंडल कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। इसके लिए मोबाइल आइसोलेशन वार्ड (Mobile Isolation Ward) बनवा रहे हैं। जरूरत के आधार पर इनका उपयोग करेंगे। रेलकर्मी कोरोना को हराने के लिए पूरी सजगता व सतर्कता से काम कर रहे हैं। – उदय बोरवणकर, डीआरएम भोपाल (Bhopal) रेल मंडल

Facebook Comments