मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह पर हमला

मध्यप्रदेश

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के विदिशा दौरे में कांग्रेसियों उन्हें काले झंडे दिखाने का प्रयास किया, लेकिन इससे पहले ही 91 कांग्रेसियों को गिरफ्तार कर लिया गया। लेकिन इसके बाद कांग्रेसियों ने उद्यानिकी मंत्री सूर्यप्रकाश मीणा की कार को घेर लिया और काले झंडे दिखाए।

मुख्यमंत्री चौहान नई मंडी परिसर में आयोजित समारोह में मंगलवार को प्रधानमंत्री फसल बीमा की राशि किसानों के खाते में वन क्लिक के माध्यम से डालने आए थे।

समारोह से लौटते समय मुख्यमंत्री से मिलने के लिए कृष्णा गार्डन एंड रेस्टोरेंट के मैनेजर सत्यनारायण राठौर हत्याकांड के आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर मृतक के भाई अशोक राठौर ने काफी प्रयास किया, लेकिन जब वह सीएम से नहीं मिल पाया तो सत्यनारायण राठौर हत्याकांड में आरोपियों की अब तक गिरफ्तारी ना हो पाने से नाराज सत्यनारायण राठौर के परिवारजन 500 पुलिस जवानों के मजबूत सुरक्षा घेरे को तोड़ते हुए मुख्यमंत्री की कार तक पहुंच गए और कार पर घूंसे मारे।

कार में थे सीएम…

बताया जाता है ये उस समय हुआ जबकि कार के भीतर सीएम शिवराज सिंह मौजूद थे। सीएम की सुरक्षा के लिए आगे आए एसपी विनीत कपूर को भी धक्का देकर हटाया गया। इसी बीच उन्हें हटाने आए पुलिस कर्मियों सहित एसपी विनीत कपूर से उसकी धक्कामुक्की हुई।

इस बीच छीनाझपटी में एसपी की यूनीफार्म पर कंधे पर लगाए जाने वाला बैज टूटकर लटक गए। एक अन्य महिला ने सीएम के काफिले को रोकने का प्रयास किया, लेकिन उसे पुलिस ने घसीटकर एक तरफ कर दिया। उधर एसपी ने इस तरह की किसी भी घटना की जानकारी से इंकार किया है। बैज टूटने पर उन्होंने कहा कि भीड़ भाड़ में ये तो हो ही जाता है।

भीड़ ने सुरक्षाघेरा तोड़ा…
CM की सुरक्षा को लेकर 500 से ज्यादा पुलिसकर्मी तैनात किए गए थे। इसके बाद कई लोग उनकी कार के पास पहुंचे और कार में घूंसे मारे। गौरतलब है कि 24 जून की रात में करैया खेड़ा रोड निवासी और कृष्णा गार्डन के मैनेजर सत्यनारायण राठौर की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। मृतक की पत्नी और बुआ को इंस्पेक्टर रजनी श्रीवास्तव ने सीएम से मुलाकात भी करवा दी थी। वहीं एसपी विनीत कपूर का कहना है कि सीएम के वाहन को निकालने में धक्का लग गया था। इस वजह से शोल्डर फ्लैप गिर गया था।