अध्यापकों को गुरुपूर्णिमा के दिन मिलेगा सरकार से खास तोहफा

मध्यप्रदेश

भोपाल। लंबे समय से संविलियन का इंतजार कर रहे अध्यापकों को अभी कुछ और दिन इंतजार करना होगा। दरअसल पिछले दिनों सीएम शिवराज ने सोमवार को अध्यापकों के शिक्षा विभाग में संविलियन के आदेश जारी करने की बात कही थी, लेकिन सोमवार को ये आदेश जारी नहीं किए गए।

ऐसे में अब जो नई सूचना सामने आ रही है उसके अनुसार सरकार अध्यापकों को ये तोहफा उनके ही खास दिन यानि गुरुपूर्णिमा को देने का मन बना चुकी है।

इससे पहले सोमवार दिनभर अध्यापक संगठन आदेश जारी होने का इंतजार करते रहे, लेकिन ऐसा नहीं होने के चलते कई अध्यापक काफी नाराज भी हुए। वहीं कुछ संगठनों का यहां तक आरोप है कि सरकार इस मुद्दे को ज्यादा से ज्यादा लंबा खींचना चाहती है, जिससे कि ठीक चुनाव से पहले इससे लाभ उठा सके।

उनका कहना है कि इस मुद्दे से अध्यापकों का ध्यान भटकाने के लिए अचानक ई-अटेंडेंस का शिगूफा छेड़ दिया गया।

इसी बीच कुछ संगठनों ने दावा किया कि 27 जुलाई को गुरुपूर्णिमा के मौके पर यह आदेश जारी होंगे। पिछले साल भी अध्यापकों को छठवां वेतनमान और समान काम-समान वेतन के आदेश भी इसी दिन हुए थे।

राज्य अध्यापक संघ की ओर से मिली जानकारी के अनुसार संगठन के प्रांतीय नेतृत्व को सरकार की ओर से यह संकेत मिले हैं कि संविलियन के आदेश गुरु पूर्णिमा पर जारी होंगे। पिछले साल भी इसी दिन ही शिक्षकों को समान काम समान वेतन के आदेश जारी हुए थे। इसी को लेकर कयास लगाए जा रहे हैं।

जबकि इससे पहले कहा गया था कि 13 जुलाई को सीएम शिवराज सिंह संविलियन आदेश जारी करने वाले हैं। इसी दिन अध्यापकों की ओर से उनका सम्मान किया जाएगा, परंतु फिर इस दिन ऐसा कोई भी आदेश या कार्य नहीं हुआ।

वहीं इसके बाद सीएम शिवराज ने शनिवार को बड़वानी पहुंची जनआशीर्वाद यात्रा के दाैरान प्रदेश के लगभग 2.37 लाख अध्यापकों के स्कूल शिक्षा विभाग में संविलियन के आदेश सोमवार को जारी करने घोषणा की थी।

वहीं सोमवार को सीएम शिवराज गुना में थे, सूत्रों के अनुसार इस दौरान सारे अध्यापक उनकी घोषणा का इंतजार करते रहे, लेकिन इस दिन भी कोई घोषणा नहीं होने से अध्यापकों में नाराजगी फैल गई और वे पुन: आंदोलन के लिए सोचने लगे।

इसी बीच अध्यापक संगठन में ही उपर से सूचना आई की अब अध्यापकों के संविलियन के आदेश गुरुपुर्णिमा पर जारी किए जाएंगे। जिसके बाद अध्यापक कुछ शांत हुए और अब वे गुरुपुर्णिमा के दिन आने वाले आदेश का इंतजार कर रहे हैं।

ये होगा फायदा…

सरकार की ओर से मिलने वाले इस तोहफे के साथ ही यानि संविलियन होते ही अध्यापकों को सरकारी कर्मचारी का दर्जा मिल जाएगा। जिसके बाद इन्हें 7वां वेतनमान भी मिलेगा। इससे एक अध्यापक को हर महीने 5 से 8 हजार रुपए तक का फायदा भी होगा।