मध्यप्रदेश : शिवराज सरकार इन्हे देने वाली है खुशखबरी

मध्यप्रदेश

भोपाल। प्रदेश के 2.37 लाख से ज्यादा अध्यापकों के लिए खुशखबरी है। लम्बे समय के इन्तजार के बाद आखिर वो घड़ी आ गई है, जब उन्हें तोहफा मिलने वाला है। अध्यापकों के स्कूल शिक्षा विभाग में संविलियन के आदेश सोमवार को जारी होंगे। बड़वानी पहुंची जनआशीर्वाद यात्रा में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसकी घोषणा की है।

आदेश जारी होने के बाद अध्यापकों को सरकारी कर्मचारी का दर्जा मिल जाएगा। वहीं 7वां वेतनमान का लाभ भी मिलेगा। सरकार द्वारा अध्यापकों के संविलियन एवं सातवां वेतनमान संबंधी आदेश जारी नहीं करने से अध्यापकों में आक्रोश पनपने लगा है। राज्य कैबिनेट ने 29 मई को 2.37 लाख अध्यापकों के संविलियन एवं 1 जुलाई 2018 से सातवां वेतनमान देने के प्रस्ताव को मंजूरी दी थी। इसके बाद अध्यापक आदेश के इंतजार में है।

तीन विभागों के अधीन काम कर रहे अध्यापक

अभी प्रदेशभर में ये अध्यापक तीन विभागों के अधीन काम कर रहे हैं। इन्हें सरकारी कर्मचारी का दर्जा नहीं है। विभिन्न अध्यापक नगरीय प्रशासन, पंचायती निकायों और आदिम जाति कल्याण विभाग के अधीन थे। सरकार के इस आदेश के साथ ही अध्यापकों के लिए दिग्विजय शासनकाल में शुरू हुआ कर्मी कल्चर जैसा काला अध्याय भी समाप्त हो जाएगा। इससे अध्यापक को हर महीने 5 से 8 हजार रुपए तक का फायदा भी होगा।