शिवराज सिंह चौहान नहीं बनेंगे मुख्यमंत्री, हाथों से फिसल गई सीएम की कुर्सी

Madhya Pradesh
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

भोपाल. मध्यप्रदेश का अगला सीएम कौन होगा इसको लेकर संशय बरकरार है। कमलनाथ के इस्तीफे के बाद माना जा रहा था कि शिवराज सिंह चौहान मध्यप्रदेश के अगले सीएम होंगे लेकिन भाजपा अभी तक यह तय नहीं कर पाई है कि मध्यप्रदेश में सत्ता की बागडोर किसे सौंपी जाए। वहीं, दूसरी तरफ कांग्रेस ने शिवराज सिंह चौहान को लेकर एक विवादित टिप्पणी की है। मध्यप्रदेश कांग्रेस ने अपने ट्विटर पर शिवराज सिंह चौहान पर हमला बोला है।


यह भी पढ़ें : रीवा के विकास को फिर लगेंगे पंख, फिर मंत्री बन कर आ रहें हैं ‘Rajendra Shukla’?


 

कांग्रेस ने क्या ट्वीट किया है
मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री का नाम तय नहीं हो पाने पर मध्यप्रदेश कांग्रेस ने अपने अधिकारिक ट्विटर पेज पर लिखा- शिवराज जी, सुना है जिस कुर्सी के लिये आपने जमीर-ईमान सब बेचा, वो भी अब हाथ नहीं आ रही है!

बीजेपी पर भी हमला
मध्यप्रदेश कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कांग्रेस ने कहा- पूरी दुनिया कोरोना से लड़ रही है, लेकिन मध्य प्रदेश की बीजेपी पहले सरकार से लड़ रही थी और अब मुख्यमंत्री की कुर्सी के लिये आपस में लड़ रही है।

कौन-कौन हैं दावेदार
वरिष्ठता के आधार पर केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर का नाम शिवराज सिंह चौहान के बाद दूसरे नंबर पर है। तो वहीं, ऑपरेशन लोटस में रणनीतिकार की भूमिका निभाने वाले पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा का नाम भी केन्द्रीय संगठन की सूची में शामिल है। सूत्रों का कहना है कि मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री के चयन में ज्योतिरादित्य सिंधिया का भी अहम रोल होगा।

22 विधायकों के इस्तीफे के बाद गिरी कमलनाथ सरकार
बता दें कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने के बाद सिंधिया समर्थक विधायकों ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। उसके बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया 11 मार्च को भाजपा में शामिल हो गए थे। सिंधिया के भाजपा में शामिल होते ही कमलनाथ सरकार के गिरने की पटकथा तैयार हो गई थी। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद शुक्रवार को कमलनाथ को फ्लोर टेस्ट कराना था लेकिन फ्लोर टेस्ट से पहले ही कमलनाथ ने राज्यपाल लालजी टंडन को इस्तीफा सौंप दिया था।

Facebook Comments