MP: लाड़ले को बाइक देना पड़ा मंहगा, अब पिता को जाना होगा जेल

मध्यप्रदेश सागर

मध्य प्रदेश के सागर जिले में वाहन चैकिंग के लिए शुक्रवार से पुलिस और परिवहन विभाग ने मिलकर विशेष चैकिंग अभियान शुरू किया है। सात दिन तक चलने वाले इस अभियान की शुरुआत शुक्रवार को सिविल लाइन-मकरोनिया मार्ग स्थित कठवा पुल से की गई। इस दौरान बड़ी तादात में बाइक से लेकर बस तक वाहनों की चैकिंग की गई।

चैकिंग के दौरान सागर आरटीओ प्रदीप शर्मा ने बाइक चलाकर स्कूल से लौट रहे एक नाबालिग को पकड़ा। जिसने पहले पुलिस को देखते ही स्पीड तेज कर भागने की कोशिश की, लेकिन मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने उसे दौड़कर पकड़ लिया। इसके बाद बगैर लाइसेंस वाहन चलाने पर आरटीओ ने उसे फटकारते हुए कहा कि बाइक पिता के नाम पर है और उन्होंने तुम्हें बगैर लाइसेंस बाइक कैसे दी, इस मामले में तुम्हारे पिता को भी 3 माह की सजा हो सकती है। इसके बाद यातायात पुलिस ने गाड़ी जब्त कर थाने पहुंचाई, जहां दो हजार रुपए का चालान करने और आगे से बगैर लाइसेंस वाहन न चलाने की हिदायत देकर बाइक छोड़ी गई।

डीएसपी ट्रैफिक संजय खरे से मिली जानकारी के अनुसार पहले दिन करीब 25 बाइक बगैर बीमा के मिली, जिन पर चालानी कार्रवाई की गई है। वहीं बगैर फिटनेस और परमिट के चल रहीं बसों का भी जुर्माना किया गया। विशेष अभियान के तहत शुक्रवार को जिले में ड्रिंक एंड ड्राइव की कार्रवाई भी की गई।

जिसमें जगह-जगह चैकिंग लगाकर पुलिस ने नशे में धुत होकर वाहन चलाने वालों को पकड़ा और चालान भी बनाए। वहीं इस अभियान के तहत एक्सीडेंटल केस और नियम विरुद्ध वाहन चलाने वालों के विरुद्ध चालानी कार्रवाई के साथ लाइसेंस सस्पेंड करने की कार्रवाई भी की जाएगी।