बड़ी खबर : पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह देने जा रहे गिरफ्तारी, जानिए कारण

मध्यप्रदेश

सीएम शिवराज सिंह चौहान द्वारा दिग्विजय सिंह को देश द्रोही कहे जाने पर चुनाव से कुछ समय पहले प्रदेश में एक बार फिर राजनीति गरमा गई है। सीएम द्वारा किए गए इस प्रहार पर अब दिग्विजय सिंह ने भी मोर्चा खोल दिया है।

इसी के चलते पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह मुख्यमंत्री को एक पत्र लिखा है। जिसमें उन्होंने 26 जुलाई 2018 को भोपाल के टीटी नगर थाने में गिरफ्तारी देने की बात लिखी है। दिग्विज के इस पत्र से एक बार फिर मध्यप्रदेश की राजनीति गरमा गई है।

ये है मामला…
वहीं इससे पहले शनिवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भी देश द्रोही कह जाने के विरोध में राजधानी भोपाल के 6 नंबर स्टॉप शिवाजी नगर पर दोपहर 2.30 बजे धरना प्रदर्शन किया।

letter sended by digvijay to cm shivraj singh

दिग्विजय ने इससे पहले अपने ट्विट में कहा था कि मेरे देश द्रोही होने के प्रमाण हो तो सीएम मुझे सजा दिलवाएं, नही तो शिवराज माफी मांगे।

‘देशद्रोही’ कहे जाने से कांग्रेस भड़की…
मुख्यमंत्री शिवराज द्वारा कांग्रेस के सीनियर नेता और पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह को ‘देशद्रोही’ कहे जाने से कांग्रेस में नाराजगी फैल गई। जिसके चलते कांग्रेस लगातार इस बयान को लेकर पलटवार कर रही है।

इसी कड़ी में अब खुद दिग्विजय ने अपना बचाव करते हुए शिवराज के बयान पर पलटवार कर कहा है कि अगर उनके पास कोई सबूत है तो सबको दिखाए और मुझे गिरफ्तार कर जेल भिजवाए। अगर ऐसा नही है तो मुझसे माफी मांगे।

जानकारी के अनुसार बीते गुरुवार को जन आशीर्वाद यात्रा के दूसरे चरण में सतना जिले के दौरे पर सीएम शिवराज ने पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पर निशाना साधा था। यहां उन्होंने कांग्रेस के सीनियर नेता और पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह पर बेहद तल्ख टिप्पणी करते हुए उन्हें ‘देशद्रोही’ करार दिया था।

उन्होंने कहा था कि दिग्गी कुंठित हैं और कई बार देशद्रोही लगते हैं। जिन्हें देश, समाज, संस्कृति से कोई लेना देना नही है। ऐसे लोगों को हम धिक्कारते हैं। शिवराज सिंह ने कहा, ये ऐसे शख्स हैं अगर किसी आंतकवादी को पुलिस मार दे तो ये आतंकवादी के घर जाते हैं। आतंकवादी को जी कहकर संबोधित करते हैं।

दिग्विजय ने पलटवार करते हुए किया ये ट्वीट
शिवराज की इस तेज टिप्पणी पर दिग्विजय ने पलटवार करते हुए ट्वीट कर लिखा है कि लगता है मप्र में मेरी सक्रियता से शिवराज जी को काफ़ी तकलीफ़ है। मुख्यमंत्री के नाते हो सकता है उनके पास मेरे देश द्रोही होने के प्रमाण हों। यदि हैं तो मुझे गिरफ़्तार कर सज़ा दिलवाएं। यदि नहीं हैं तो माफ़ी मांगें।