मध्यप्रदेश : रात में आया राजनीतिक तूफान, कांग्रेस विधायक के बाद भाजपा के दो विधायक दे सकते हैं इस्तीफा!

मध्यप्रदेश

भोपाल। मध्यप्रदेश में पिछले तीन दिनों से चला आ रहा घमासान अब तूफान में बदल गया। कांग्रेस के चार विधायकों का अभी पता भी नहीं चल पाया था कि उसके सुवासरा (मंदसौर) से विधायक हरजीत सिंह डंग का इस्तीफा सोशल मीडिया में वायरल हो गया। जबकि कांग्रेस के चारों विधायक इस समय तक लापता हैं। वहींअटकलें लगाई जा रही हैं कि भाजपा के दो बागी विधायक नारायण त्रिपाठी और शरद कौल इस्तीफा दे सकते हैं। यदि दोनों विधायक इस्तीफा दे देते हैं तो यह भाजपा को सबसे बड़ा झटका हो सकता है।

कांग्रेस विधायक का इस्तीफा पहुंचा

मंदसौर जिले के सुवासरा के विधायक का इस्तीफा सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। लेकिन, इसकी कोई पुष्टि नहीं कर रहा है। विधानसभा अध्यक्ष और सीएम तक भी इस्तीफा देने की खबरें आई, लेकिन पुष्टि नहीं हुई। इन खबरों के बाद प्रदेशभर में हलचल मच गई और कमलनाथ सरकार के मंत्री एक-एक करके सीएम हाउस में जमा होने लगे। वहीं देर रात तक चली बैठक में भाजपा के विधायक नारायण त्रिपाठी भी शामिल थे। उनके इस्तीफे की खबरें आ रही हैं।

इस्तीफा दे सकते हैं भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी
गुरुवार देर रात को सीएम हाउस में चल रही बैठक के बीच खबर है कि भाजपा के विधायक नारायण त्रिपाठी इस्तीफा दे सकते हैं। पिछले दो दिनों से भाजपा के नारायण त्रिपाठी और शरद कौल भी गायब रहे, इन दोनों विधायकों को लेकर भाजपा में टेंशन बढ़ गई थी। गुरुवार देर रात को नारायण त्रिपाठी सीएम हाउस पहुंचे और उनके भी इस्तीफा देने की खबरें बाहर आने लगी। माना जा रहा है कि वे भाजपा छोड़ कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं। यदि नारायण त्रिपाठी इस्तीफा दे देते हैं तो यह भाजपा को काफी बड़ा झटका लग सकता है। त्रिपाठी के साथ ही भाजपा के विधायक शरद कौल के भी भाजपा में शामिल होने की अटकलें लगाई जा रही हैं।

सीएम हाउस में हलचल
कांग्रेस विधायक के इस्तीफे की खबर के बाद सीएम हाउस में हलचल तेज हो गई है। मुख्यमंत्री लगातार मंत्रियों के साथ बैठकें कर रहे हैं। माना जा रहा है कि एक के बाद एक सीएम हाउस में गाड़ियां जा रही हैं और दूसरी तरफ से बाहर निकल रही हैं। सीएम हाउस के बाहर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है, वहीं मीडिया का जमावड़ा है।

शिवराज, नरोत्तम और भार्गव दिल्ली में
भाजपा के कई दिग्गज नेता इस समय दिल्ली में हैं। इसमें पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, नरोत्तम मिश्र समेत अन्य नेता दिल्ली में आलाकमान के साथ बैठकें कर रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक दोनों ही दलों में कुछ न कुछ जरूर पक रहा है।

नारायण त्रिपाठी बोले- नहीं दिया इस्तीफा
सीएम हाउस से बाहर निकल निकलकर रात 12 बजे नारायण त्रिपाठी ने मीडिया को देख गाड़ी रुकवाई लेकिन उन्होंने इस्तीफे से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि एक विधायक सीएम से क्यों मिलने जाएगा, मैं अपने विधानसभा क्षेत्र मैहर के विकास और रुके हुए कामों के लिए मिलने गया था।

क्या कहते हैं नेता
भाजपा नेता हितेश वाजपेयी का कहना है कि कमलनाथ की अल्पमत की सरकार को शायद ये लोग चलने नहीं देंगे। कांग्रेस प्रवक्ता भूपेंद्र गुप्ता कहते हैं कि भाजपा ने ही तो यह गेम शुरू किया है।

Facebook Comments