विधायक हरदीप सिंह डंग के इस्तीफे के बाद गड़बड़ाया आंकड़ों का गणित, कांग्रेस विधायक के इस्तीफे से बाद बनने जा रही स्थिति : MP NEWS

मध्यप्रदेश

भोपाल। मध्यप्रदेश में चल रहे राजनैतिक सियासी घमासान के बीच सोशल मीडिया पर एक नया पेंच खड़ा हो गया है। जिसे कांग्रेस सरकार के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है। दरअसल पिछले चार दिनों से गायब मंदसौर सुवासरा से कांग्रेस के विधायक हरदीपसिंह डंग का इस्तीफा इस समय सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है। जिसके चलते मध्यप्रदेश विधानसभा में आंकड़ों का गणित गड़बड़ाना शुरू हो गया है।

दरअसल डंग के दो पत्र सोशल मीडिया पर सामने आए हैं, जिनमें से एक मुख्यमंत्री कमलनाथ को तो दूसरा विधानसभा अध्यक्ष के नाम पर दिखाया गया है।अब तक इस इस्तीफे की किसी प्रकार की पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन सोशल मीडिया में आए इस इस्तीफे ने एकाएक मध्यप्रदेश के राजनीतिक गलियारों में हड़कंप मचा दिया है।

वहीं ये पत्र समाने आने के ठीक बाद भाजपा के मंदसौर से विधायक यशपाल सिंह भदौरिया ने कांग्रेस के विधायक हरदीपसिंह डंग के इस्तीफे पर ट्विट करते हुए कहा है कि ‘मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ जी के नेतृत्व वाली सरकार के द्वारा जनहित के कार्यों को नहीं करनें,भ्रष्टाचार चरम पर, विकास कार्य ठप्प,गुटीय राजनीति से क्षुब्द होकर कांग्रेस विधायक हरदीप सिंह डंग ने विधानसभा अध्यक्ष जी को त्यागपत्र दिया है, उनका साहस और निर्णय स्वागत योग्य है।’

ऐसे समझें : विधानसभा में गड़बड़ाया गणित

-विधानसभा में सदस्य संख्या 228

-114 सदस्यों वाली कांग्रेस के पास हरदीप का इस्तीफा स्वीकार करने के बाद 113 सदस्य बचेंगे।

– यानी 227 सदस्यों वाले सदन में भाजपा अपने 107 और अन्य के समर्थन से 114 तक पहुंच सकती है।

– दो अन्य कांग्रेस विधायक अभी बेंगलुर में हैं। यदि उन्हें नहीं भी घटाया जाए तो कांग्रेस का संख्या बल 113 पर सिमट जाएगा।

संभावना जताई जा रही है कि कुछ और कांग्रेस विधायक भी इस्तीफे दे सकते हैं, जिससे कांग्रेस सरकार अल्पमत में आ सकती है।

छाए संकट के बादल …
जानकारों की मानें तो कमलनाथ सरकार पर चार दिनों से छाए संकट के बादल छंटने का नाम नहीं ले रहे हैं। एक दिन पहले थोड़ी राहत मिलने के बाद गुरवार को फिर सियासी संग्राम छिड़ गया। बेंगलुर भेजे गए कांग्रेस के तीन विधायक (बिसाहूलाल सिंह, रघुराज सिंह कंषाना और हरदीप सिंह डंग) और निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा के गुरुवार को भोपाल तक पहुंचने की संभावना जताई गई थी, लेकिन वे लौटे तो नहीं बल्कि सोशल मीडिया के अनुसार सुवासरा से कांग्रेस विधायक हरदीप सिंह डंग ने अपना इस्तीफा विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति और मुख्यमंत्री कमलनाथ को भेज दिया है।

इधर,इस्तीफे पर ये बोले कमलनाथ…
मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने अधिकृत वक्तव्य में कहा है कि हरदीप सिंह ढंग हमारी पार्टी के विधायक है।उनके इस्तीफ़ा देने की ख़बर मिली है।लेकिन मुझे अभी तक उनका इस संबंध में ना तो कोई पत्र प्राप्त हुआ है, ना उन्होंने मुझसे अभी तक इस संबंध में कोई चर्चा की है और ना प्रत्यक्ष मुलाक़ात की है। जब तक मेरी उनसे इस संबंध में चर्चा नहीं हो जाती, तब तक इस बारे में कुछ भी कहना ठीक नहीं होगा।

विधायकों को दी चेतावनी…
कांग्रेस जिन विधायकों की खरीद-फरोख्त किए जाने का आरोप भाजपा पर लगा रही थी, गुरवार को उन्होंने कांग्रेस नेताओं और कैबिनेट मंत्री जीतू पटवारी व जयवर्धन सिंह को चेतावनी दे दी कि वे अपने नंबर बढ़ाने के लिए ऐसे बयान न दें। बसपा विधायक संजीव सिंह कुशवाह ने कहा कि कांग्रेस के मंत्री सुधर जाएं वरना अगली बार रेस्क्यू का मौका भी नहीं मिलेगा। समाजवादी पार्टी के विधायक राजेश शुक्ला ने चेताया कि वे कमलनाथ सरकार को समर्थन दे रहे हैं, पर खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया तो प्रमाण दो, वरना राज्यसभा चुनाव में हमें क्या फैसला लेना हैं, हम तय करेंगे।

भविष्य पर संकट..
इस इस्तीफे के साथ ही कमलनाथ सरकार के भविष्य पर संकट और ज्यादा गहरा गया है। इससे पहले जिन कांग्रेस और सपा-बसपा विधायकों को दिल्ली से विशेष विमान से भोपाल लाया गया था, उन्होंने भी आज तीखे तेवर दिखाए। कांग्रेस को इन विधायकों ने चेतावनी दी कि वे अपने बयानों पर लपुलिस महानिदेशक वीके सिंह गाम लगाएं, वरना अगली बार उन्हें रेस्क्यू का मौका भी नहीं मिलेगा। विधायकों के तेवर देखने से साफ झलक रहा है कि कमलनाथ सरकार पर छाया संकट के और ज्यादा गहराने आसार हैं।

Facebook Comments