दुल्हन कोरोना पॉजिटिव निकली तो मचा हड़कंप, ससुराल से पहुंची हॉस्पिटल

घर से विदा हुई दुल्हन, रास्ते में उसे कार से उतार चला गया दूल्हा : MP NEWS

भिंड मध्यप्रदेश

Madhya Pradesh News शादी में दहेज कम मिलने से नाराज दूल्हे ने विदा के बाद दुल्हन को गाड़ी से उतारकर वापस मायके भेज दिया। दुल्हन करीब 500 मीटर पैदल चलकर वापस मायके पहुंची। परिजनों को पूरा घटनाक्रम बताया। परिजन दुल्हन को गाड़ी से देहात थाने लेकर आए। पुलिस ने दूल्हे को फोन लगाकर थाने बुलाया तो पहले उसने न नुकुर की, लेकिन बाद में आने के लिए तैयार हो गया। पुलिस ने सख्त हिदायत देते हुए दुल्हन की थाने से ही विदा कराई है। देहात थाना पहुंचे मिश्र का पुरा निवासी सैनिक इंद्रजीत जाटव ने बताया कि 25 फरवरी को बहन वर्षा जाटव की शादी अटेर के खेरी गांव में कुलदीप जाटव के साथ हुई थी। बुधवार शाम करीब 6 बजे दुल्हन वर्षा को दूल्हा कुलदीप के साथ बोलेरो में बैठाकर मायके से विदा किया गया। घर से करीब 500 मीटर दूर जाकर दूल्हा ने दहेज कम मिलने की बात कहते हुए दुल्हन को गाड़ी से उतार दिया।

वर्षा रोती हुई वापस घर पहुंची। मौसी सरोज देवी, भाई इंद्रजीत, राहुल जाटव, बहन कविता देवी, सीमा देवी गाड़ी में बैठाकर वर्षा को लेकर देहात थाने पहुंचे। यहां टीआई शैलेंद्र कुशवाह को पूरा घटनाक्रम बताया। टीआई ने एसआई गीता सिकरवार को मामले में कार्रवाई के कहा।

एसआई से बोला दूल्हा- खुद उतरकर गई थी दुल्हन

एसआई गीता सिकरवार ने दुल्हन के परिजन से दूल्हा का मोबाइल नंबर लिया। दूल्हे कुलदीप से बात हुई। एसआई ने पूछा, वर्षा को क्यों छोड़ दिया। कुलदीप ने जवाब दिया कि वह खुद उतर गई थी। एसआई ने कहा थाने पर आ जाओ। यह सुनकर कुलदीप ने फोन काट दिया। एसआई ने दोबारा कॉल कर पूछा फोन क्यों काटा तो कुलदीप ने कहा कि थाने आ रहा हूं। इसके बाद दूल्हा थाने पहुंचा। पुलिस ने उसे सख्त हिदायत दी और दूल्हन को थाने से ही विदा कराया।

दहेज में नकद राशि कम मिलने से शादी में भी जताई था नाराजगी

बताया जाता है कि वधु पक्ष ने शादी में तय सभी सामान दिया था। रस्मों के दौरान नकदी भी दी थी। दूल्हन का भाई सेना में है, ऐसे में जब कम नगदी मिली तो दूल्हे को यह भी कहते सुना गया था कि भाई सेना में है फिर भी कम पैसा दिया है।

इनका कहना है

परिजन ने आकर शिकायत की है कि विदा के बाद दुल्हन को दूल्हा ने कम दहेज मिलने से नाराज होकर गाड़ी से उतार दिया। दूल्हे को बुलवाया गया। समझाकर थाने से ही विदा करवाई गई।

Facebook Comments